कोरोना की खुलेआम अनदेखी, बड़े खतरे की है घंटी

Updated Date: Fri, 23 Oct 2020 05:08 PM (IST)

- सार्वजनिक स्थानों पर बिना मास्क के घूम रहे लोग

- अब बढ़ने लगे हैं कोरोना के नए मामले

PATNA :

एक तरफ चुनाव प्रचार चरम पर है तो दूसरी ओर थम रहा कोरोना अनलॉक में मिली छूट के बाद एक बार फिर तेजी से बढ़ने लगा है। शहर की सड़कों पर ऐसा देखा जा रहा है कि इस महामारी से बचाव को लेकर बनाए गए सेफ्टी रूल्स की लगातार अनदेखी हो रही है। सर्दी के मौसम में वायरस का अटैक बढ़ने का खतरा ज्यादा रहता है। कोरोना संक्रमण को लेकर दो दिन पहले ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी आगाह किया है, लेकिन बिहार में तो चुनावी सरगर्मी इस कदर है कि मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग के नियम लगातार टूट रहे हैं।

दूसरी तरफ वैसे लोग जिन्हें चुनाव से ज्यादा सरोकार नहीं है वह भी ढिलाई बरतने लगे हैं। सब्जी मार्केट सरकारी दफ्तरों और विभिन्न संगठनों की बैठकों में लोग बिना मास्क के दिखने लगे हैं। मास्क लगाने वाले लोग घट रहे हैं कहा तो गया था व्यवहार बदल कर कोरोना पर करें वार, लेकिन यह सिर्फ स्लोगन भर रह गया लोग समझने को तैयार नहीं है और इसका नतीजा है कि हाल के दिनों में कोरोना पेशेंट की संख्या फिर से बढ़ने लगी है। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़े से भी इसकी पुष्टि होती है।

21 दिन में 995 बढ़े

बिहार में लगभग 3 हफ्तों से चुनावी सरगर्मी तेज है और इसी को केंद्र में रखकर जब 1 अक्टूबर से 21 अक्टूबर तक के आंकड़ों का आकलन किया गया तो इसमें 5753 कुल मामले मिले। वहीं सितंबर माह में 1 से 21 तारीख के बीच यह आंकड़ा 4758 रिकॉर्ड किया गया था। इसका अर्थ है कि सितंबर की तुलना में उसी अवधि में अक्टूबर माह में 995 मामले कोरोना के बढ़े हैं। यदि औसत की बात भी करें तो प्रतिदिन लगभग 200 नए मामले सितंबर में मिल रहे थे जबकि अक्टूबर में यह लगभग 250 से 300 तक मिल रहे हैं। अक्टूबर माह में इस दौरान 20 अक्टूबर को 392, 08 अक्टूबर को 312, 14 अक्टूबर को 301 और 21अक्टूबर को 308 नए मामले मिले हैं।

इन वजहों से बढ़े मामले

जब तक लॉकडाउन रहा सार्वजनिक गतिविधियां सीमित रहीं, लेकिन अनलॉक के बाद से सभी प्रकार की गतिविधियों में और सोशल एक्टिविटी में भी वृद्धि हुई। लोग कोरोना से बचाव के अनुपालन में भी लापरवाही करते नजर आ रहे हैं। विशेष तौर पर चुनावी गतिविधि में 2 गज दूरी की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। वही त्योहारों के माहौल में बाजारों में भी भीड़ एकाएक बढ़ गई है। कोरोना से बचाव के लिए बने रूल मास्क पहनना, हैंड सैनिटाइजर और सोशल डिस्टेंसिंग आदि का ख्याल नहीं रखा जा रहा है।

---

चुनावी सभाओं को इजाजत दिए जाने और इसमें लापरवाही बरते जाने से बढ़ रहे हैं। कोरोना के मामले सरकार की भी है अनदेखी।

- सुनील सेवक सामाजिक कार्यकर्ता

---------

कोरोना नियंत्रण के लिए जितनी बातें कही जा रही हैं उस पर अमल नहीं हो रहा विशेष तौर पर किसी भी सार्वजनिक कार्यक्रम में लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग की परवाह ही नहीं।

राजेश खेतान, सीए

-------

कोरोना के मामले बढ़ना चिंताजनक है। हर व्यक्ति को अपने स्तर पर इसकी सुरक्षा के लिए हर जरूरी कदम उठाए जाने चाहिए। तभी मामलों में कमी आएगी।

- साधना ठाकुर, शिक्षक

ऐसे समझें संक्रमण के खतरे को

नए पॉजिटिव केस पटना में

( 1 सितंबर से 21 सितंबर)

1 सितंबर 298

2 सितंबर 255

3 सितंबर 255

4 सितंबर 258

5 सितंबर 220

6 सितंबर 214

7 सितंबर 241

8 सितंबर 208

9 सितंबर 203

10 सितंबर 202

11 सितंबर 211

12 सितंबर 205

13 सितंबर 173

14 सितंबर 196

15 सितंबर 183

16 सितंबर 215

17 सितंबर 290

18 सितंबर 199

19 सितंबर 263

20 सितंबर 209

21 सितंबर 260

-------------

टोटल - 4758

--------------

(1 अक्टूबर से 21 अक्टूबर)

1 अक्टूबर 259

2 अक्टूबर 236

3 अक्टूबर 207

4 अक्टूबर 265

5 अक्टूबर 195

6 अक्टूबर 312

7 अक्टूबर 263

8 अक्टूबर 312

9 अक्टूबर 234

10 अक्टूबर 255

11 अक्टूबर 290

12 अक्टूबर 217

13 अक्टूबर 272

14 अक्टूबर 301

15 अक्टूबर 290

16 अक्टूबर 226

17 अक्टूबर 250

18 अक्टूबर 316

19 अक्टूबर 253

20 अक्टूबर 392

21 अक्टूबर 308

---------------

टोटल - 5753

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.