पटना में रिकवरी-पॉजिटिविटी केस स्थिर

Updated Date: Mon, 21 Sep 2020 05:48 PM (IST)

PATNA: पटना में बीते 10 दिनों में कोरोना का रिकवरी रेट और पॉजिटिविटी दोनों स्थिर है। आमतौर पर रोज रिकवरी रेट में अंतर होते रहा है। कोरोना के नए केसेज भी औसतन 200 मिल रहे हैं। जबकि पटना में अधिकतम 36 हजार कोरोना टेस्ट प्रतिदिन हो रहे हैं। यह स्थिति लगातार जांच बढ़ाने, लोगों के बीच कोरोना को लेकर अवेयरनेस आने के साथ ही एक संयोग भी है। रिकवरी रेट दस सितंबर से अब तक 90 से 91 परसेंट पर आकर स्थिर हो गया है।

13 की हुई मौत

दस से 20 सितंबर तक पटना में कोरोना से 13 की मौत हुई है। इसमें अधिकतर 50 वर्ष या इससे अधिक उम्र के पेशेंट थे। 10 को मौत का आंकड़ा 184 था जो अब 197 हो गया है।

एंटीबॉडी टेस्ट बढ़ाना जरूरी

एनएमसीएच के नोडल अफसर डॉ अजय सिन्हा ने बताया कि एंटीबॉडी से सही आंकलन किया जा सकता है कि कोई व्यक्ति जितना एंटीबॉडी होगा वह उतना ही सेफ होगा।

पटना में कोरोना के 209 नए केस

रविवार को पटना में कोरोना के 209 नए केस मिले हैं। इसके साथ ही यहां संक्रमितों का कुल आंकड़ा 25569 हो गया है। इसमें पीएमसीएच में एडमिट पेशेंट के साथ ही शहर के अन्य इलाकों से भी नए केस मिले है। यहां कोरोना रिकवरी रेट अब 91.59 प्रतिशत हो गया है। बीते चौबीस घंटे में 165 लोग स्वस्थ्य होकर घर लौटे हैं। बीते 24 घंटे में यहां कोरोना से एक व्यक्ति की मौत हुई है। रविवार को एम्स पटना में आरटी इनक्लेव के रहने वाले 73 वर्षीय रामउदगार महतो की मौत हुई है।

एनएमसीएच में 17 एडमिट

रविवार को एनएमसीएच में महज 17 पेशेंट का इलाज किया जा रहा है। यहां फिलहाल 430 और एम्स पटना में 150 पेशेंट हैं और लगभग 350 बेड खाली हैं। यहां के नोडल ऑफिसर डॉ संजीव कुमार ने बताया कि रविवार को यहां नौ पेशेंट डिस्चार्ज किए गए जबकि तीन की मौत हुई। इसमें एक पटना का पेशेंट भी शामिल है।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.