दिनदहाड़े घर में घुस नाबालिग को चाकू से गोद कर मार डाला

Updated Date: Fri, 22 Jan 2021 07:40 AM (IST)

-जक्कनपुर थाना क्षेत्र के जयप्रकाश नगर में की वारदात

- बार-बार समीक्षा बैठक के बावजूद हो रहे अपराध

- मैट्रिक की देने वाली थी परीक्षा

जक्कनपुर थाना क्षेत्र के जयप्रकाश नगर में की वारदात

- बार-बार समीक्षा बैठक के बावजूद हो रहे अपराध

- मैट्रिक की देने वाली थी परीक्षा

PATNA patna@inext.co.in

PATNA अपराध को लेकर सीएम की लगातार हो रही समीक्षा बैठक के बावजूद अपराधी दिनदहाड़े वारदात को अंजाम देने में सफल हो जा रहे हैं। लेकिन पुलिस इन पर अंकुश नहीं लगा पा रही है। राजधानी में लगातार वारदात से लोगों में भय का माहौल हो गया है। गुरुवार की सुबह लगभग साढ़े क्0 बजे जक्कनपुर थाना क्षेत्र के जयप्रकाश नगर में क्ब् वर्ष की एक लड़की को एक लड़के ने उसी के घर घुसकर चाकू से गोदकर मार डाला। मृतका की शरीर चाकू के वार के तीन निशान मिले हैं। इसके बाद वह आराम से भाग गया। मृतक की पहचान नालंदा के नगर नौसा थाना क्षेत्र निवासी अंशु कुमारी के रूप में हुई है। वह इसी साल फरवरी माह में मैट्रिक की परीक्षा में शामिल होने वाली थी। वारदात की सूचना मिलते ही जक्कनपुर थाने की पुलिस वहां पहुंची और जांच शुरू की। आसपास लगे सीसीटीवी फुटेज को भी खंगाला जा रहा है। पुलिस ने लाश को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मृतक के परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

रेत दिया गला

जानकारी के अनुसार, अंशु के पिता मिथिलेश राम मजदूरी करते हैं। वह परिवार के साथ पिछले दो साल से जयप्रकाश नगर में किराए के मकान में रह रहे हैं। उसी मकान में भ्-म् और किराएदार भी रहते हैं। गुरुवार की सुबह मिथिलेश मजदूरी के लिए घर से निकल गए। मां रीता देवी अंशु की मैट्रिक परीक्षा के प्रैक्टिकल पेपर की जानकारी लेने के लिए नालंदा जाने के लिए घर से निकल गई थी। अंशु के साथ घर में उसकी चार साल की भतीजी भी थी। बताया जाता है कि इसी दौरान घर में घुसे अपराधी ने अंशु का गला रेतकर हत्या कर दी। वारदात के बाद बच्ची ने शोर मचाया तो पड़ोसी पहुंचे और मां को फोनकर जानकारी दी। वहीं, सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची जक्कनपुर थाने की पुलिस ने बताया कि लड़की के गरदन पर धारदार हथियार से वार करने के निशान पाए गए हैं। जिस वक्त वारदात हुई लड़की घर में अकेली थी। मामले को लेकर पड़ोसियों से भी पूछताछ की जा रही है। घटना की प्रत्यक्षदर्शी बच्ची को पुलिस ने सुरक्षा कारणों से अपने कब्जे में ले रखा है।

नालंदा से भरा फॉर्म

अंशु मैट्रिक की परीक्षा के लिए सेंटअप कैंडिडेट थी। उसने मैट्रिक परीक्षा का फॉर्म अपने नानीघर चंडी से भरा था, लेकिन परीक्षा की तैयारी पटना में कर रही थी। पश्चिमी जयप्रकाश नगर में उसका पूरा परिवार किराए पर रहता है। गुरुवार सुबह मां एडमिट कार्ड लाने बस से चंडी निकली और इधर अंशु अपने भाई की ससुराल में सब्जी पहुंचाने निकल गई। परिजनों ने बताया कि भाई की ससुराल में किसी की मौत के कारण छुतका है, इसलिए वहां से सब्जी पहुंचाकर अपनी भतीजी के साथ अंशु घर लौटी ही थी कि कोई उसे मारकर भाग गया।

चार-पांच दिनों से कोचिंग नहीं गई थी

अंशु के पिता मिथिलेश राम मजदूरी करते हैं। वह फ् लड़की में सबसे छोटी थी। एक भाई है लेकिन वह ससुराल में रहता है। दो बहनों की शादी हो चुकी है। मां-बाप के साथ अंशु ही रहती थी। मां-बाप इसकी अच्छी पढ़ाई के लिए यथासंभव मेहनत कर रहे थे। जानकारी के अनुसार, वह पिछले चार-पांच दिनों से कोचिंग नहीं जा रही थी।

नहीं थम रहा अपराध

ख्0 जनवरी

जानीपुर थाना क्षेत्र के ब्रह्मस्थान के पास बाइक सवार अज्ञात बदमाशों ने दानापुर कोर्ट में वकील के मुंशी की गोली मारकर हत्या कर दी। वह नौबतपुर थाना क्षेत्र के नारायणपुर समनपुरा गांव निवासी स्व। बालेश्वर पाठक के बेटे भगवान पाठक के रूप में हुई।

क्9 जनवरी

रुपसपुर थाना क्षेत्र के विजय नगर रोड नंबर फ् से लापता आर्मी के सुबेदार के बेटे सूरज कुमार मिश्रा का क्षत-विक्षत शव दीघा थाना क्षेत्र के गेट नंबर 9ख् स्थित गंगा नदी के किनारे मिला। शव की पहचान परिजनों ने सूरज के पैंट से की। सूरज मूल रूप से लखीसराय के पीरी बाजार थाने के अभयपुर का रहने वाला था। विजय नगर में वह किराए के घर में रहकर बीसीए की पढ़ाई कर रहा था। वह बीते 9 जनवरी की शाम से लापता था।

-----------

कब-कब हुई बैठक

क्फ् जनवरी

इंडिगो एयरलाइंस के स्टेशन प्रबंधक रूपेश कुमार सिंह की हत्या को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने डीजीपी एसके सिंघल को तलब किया। मामले की जानकारी लेने के बाद डीजीपी को सख्त निर्देश देते हुए कहा कि इस हत्याकांड में शामिल अपराधियों की अविलंब गिरफ्तारी सुनिश्चित करें और स्पीडी ट्रायल कराकर दोषियों को जल्द से जल्द कठोर सजा दिलायी जाए। मुख्यमंत्री ने डीजीपी से कहा था कि राज्य में किसी तरह की अपराधिक घटनां को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। अपराध नियंत्रण के लिए सख्त कदम उठाएं।

8 जनवरी

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने समीक्षा बैठक में यह निर्देश दिया था कि शराब के धंधे में लिप्त बड़े लोगों को गिरफ्तार करें। शराब की तस्करी वाले मार्गो को चिन्हित कर उस पर विशेष निगरानी रखें। बार्डर एरिया पर भी नजर रखी जाए। प्रोहिबिशन कॉल सेंटर में आने वाली सूचनाओं के आधार पर तेजी से दोषियों की गिरफ्तारी होनी चाहिए। शराबबंदी के पूर्व जो शराब के व्यवसाय से जुड़े थे वे अब कौन सा काम कर रहे हैं उन भी नजर रखें।

क्फ् दिसंबर

कानून व्यवस्था को लेकर हुई मीटिंग में सीएम नीतीश कुमार ने कहा था कि बिहार में अपराधियों की अब खैर नहीं। इस दौरान अफसरों को कड़े निर्देश दिए थे। क्राइम कंट्रोल करने में अफसर किसी प्रकार की कोई कोताही नहीं बरतें। पूरी मजबूती के साथ काम करें।

ये दिए थे निर्देश

-रात्रि गश्ती के साथ-साथ नियमित गश्ती भी अनिवार्य रुप से करें

-शराबबंदी का सख्ती से पालन करें, धंधेबाजों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करें

- ओवरलोडिंग और ट्रैफिक जाम को रोकने के लिए प्रभावी कदम उठाएं

-महिलाओं की सुरक्षा पर विशेष नजर रखें, उनके खिलाफ हो रहे अपराध में संलिप्त लोगों के विरुद्ध कड़ी कार्ररवाई करें

- भूमि विवाद के समाधान के लिए सभी संबंधित अधिकारी नियमित रुप से बैठक करें

- सभी के सहयोग से बिहार को विकसित राज्य बनाएंगे

हत्या का कारण स्पष्ट नहीं हो पाया है। पुलिस कई एंगल से जांच कर रही है। जल्द ही अपराधी पकड़ा जाएगा।

- जीतेंद्र कुमार, सिटी एसपी ईस्ट, पटना

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.