पटना में गुरूवार को 6.1 डिग्री सेल्सियस बारिश दर्ज की गई

पटना (ब्यूरो)। दक्षिण-पश्चिम मानसून बिहार में पूरी तरह से सक्रिय है। मौसम विभाग का अनुमान है कि अलगे चार दिनों तक पूरे बिहार में झमाझम बारिश होगी। मौसम विज्ञानियों के अनुसार यह चार दिन तक जारी रहेगी। पटना मौसम विज्ञान केंद्र के विज्ञानी संजय कुमार का कहना है कि वर्तमान में मध्य प्रदेश में कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। शुक्रवार तक उसके बिहार की ओर बढऩे की उम्मीद है। उसके बाद बिहार में वर्षा और तेज हो जाएगी। पटना में गुरुवार को छह मिलीमीटर बारिश हुई जबकि प्रदेश में सबसे ज्यादा पूर्णिया में वर्षा रिकार्ड की गई, वहां पर पिछले चौबीस घंटे में 96 मिलीमीटर वर्षा रिकार्ड की गई। गया में दो एवं भागलपुर में 5 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई। प्रदेश के तराई वाले इलाके में भारी वर्षा होने की उम्मीद है। कुछ इलाकों में बिजली गिरने की आशंका भी है।

सड़क पर लगा जाम
शाम में हुई बारिश के बाद पटना की सड़कों पर जाम लग गया। अनीसाबाद बाइपास, कंकड़बाग मेन रोड, बोरिंग रोड, रूकनपुरा फ्लाई ओवर, जीरो माइल आदि जगहों पर सड़क पर जाम लग गया। उधर, निगम के अलग -अलग अंचलों में सड़क पर बारिश का पानी का जलजमाव न हो, इसके लिए युद्ध स्तर पर काम जारी रखा गया।

गर्मी से मिली थोड़ी राहत
बारिश के बाद अधिकतम तापमान में कमी आने से बारिश से थोड़ी राहत मिली। अलग -अलग इलाकों में बारिश के बाद अधिकतम तापमान में दो से तीन डिग्री सेल्सियस की कमी दर्ज की गई। बारिश के बाद पटना का अधिकतम तापमान 31.4 डिग्री सेल्सियस जबकि न्यूनतम तापमान 25 डिग्री रिकार्ड किया गयाा। जबकि हवा में नमी की मात्रा 98 प्रतिशत तक हो गई। अगले दो दिनों में मौसम विभाग का अनुमान है कि पटना का अधिकतम तापमान 32 से 33 डिग्री जबकि न्यूनतम तापमान 25 से 26 डिग्री सेल्सियस तक रहने की संभावना है।

पंचांग भी बता रहा भारी वर्षा का आसार
आचार्य पंडित विनोद झा वैदिक कहना है कि वर्तमान में उतरा नक्षत्र चल रहा है। इस नक्षत्र में भारी वर्षा के आसार है। काशी सहित सभी पंचांगों में उतरा में वर्षा होने की उम्मीद है। पंचांग के अनुकूल मौसम भी बता रहा है। हालांकि कितनी बारिश आने वाले दिनों में होगा यह देखना बाकी है।

Posted By: Inextlive