स्मार्ट मीटर लगाने गए थे पब्लिक ने पूछा फायदा क्या?

2019-07-01T06:00:46Z

यह है स्मार्ट मीटर की खासियत

-घरों में नि:शुल्क स्मार्ट मीटर की सुविधा दी जाएगी।

-स्मार्ट मीटर लगने के बाद एक एप की सुविधा कस्टमर और संबंधित सब स्टेशन के अधिकारियों को मिलेगी।

-दस से अधिक कस्टमर के घरों की बिजली गुल हो जाती है तो एप के जरिए बिजली क्यों गई उसकी जानकारी अधिकारियों को मिल जाएगी।

-इस एप पर रोजाना होने वाली बिजली की खपत की जानकारी हासिल की जा सकती है।

-आठ साल में अगर आपका मीटर खराब हो जाता है तो एल एंड टी और आईआईएसएल कंपनी मीटर बदल देगी।

रीडिंग भी ऑटोमैटिकली

-स्मार्ट मीटर में एक चिप लगी होगी, इससे एक-एक व्यक्ति के घर जाकर मीटर की रीडिंग लेने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

-प्रतिदिन सब स्टेशन के सर्वर पर रात बारह बजे रीडिंग ऑटोमैटिक तरीके से अपलोड हो जाएगी।

-महीने की एक तारीख को बिल जनरेट हो जाएगा और उसकी सूचना संबंधित कस्टमर के मोबाइल पर भेज दी जाएगी।

---------------

-पावर कारपोरेशन के रामबाग डिवीजन में कस्टमरों के घर पर शुरू किया गया स्मार्ट मीटर लगाने का काम

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: सिटी में स्मार्ट मीटर लगाने का काम शुरू होते ही पब्लिक ने विरोध भी शुरू कर दिया है। पावर कारपोरेशन ने पहले चरण के अन्तर्गत रामबाग और करेलाबाग डिवीजन में आने वाले कस्टमरों के घरों में पंद्रह अगस्त तक मीटर लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया है। लेकिन फोर्ट रोड सब स्टेशन में आने वाले सोहबतियाबाग व बैरहना एरिया में जब कंपनी के कर्मचारी पहुंचे तो कस्टमर्स ने विरोध कर दिया। उन्होंने सीधे कहा कि पहले इसकी उपयोगिता बताइए उसके बाद ही मीटर लगाने देंगे।

टारगेट दो सौ, लगा सके 75

अलोपीबाग एरिया में शनिवार को स्मार्ट मीटर लगाने वाली कंपनी एल एंड टी व ईईएसएल कंपनी के अधिकारी व कर्मचारी पहुंचे। इस एरिया के दो सौ घरों में मीटर लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया था। एक दर्जन से अधिक कस्टमर्स ने इसका विरोध कर दिया तो मौके पर फोर्ट रोड सब स्टेशन के एसडीओ शुभम मिश्रा कर्मचारियों को लेकर पहुंचे। पब्लिक को समझाया-बुझाया गया लेकिन वे नहीं माने। हालांकि देर शाम तक 75 घरों में स्मार्ट मीटर लगा दिया गया था।

जारी की गई हेल्पलाइन नंबर

रामबाग व करेलाबाग डिवीजन के अन्तर्गत पचास हजार से अधिक कस्टमर्स के घरों में पंद्रह अगस्त तक मीटर लगाया जाना है। विरोध को देखते हुए विभागीय अधिकारियों ने एक हेल्पलाइन नंबर 9119930005 जारी की है। इस पर फोन करके कस्टमर स्मार्ट मीटर से संबंधित किसी भी प्रकार की जानकारी ले सकते हैं। एसडीओ शुभम मिश्रा के मुताबिक पब्लिक को मीटर लगाते समय बातें समझ में नहीं आएंगी। इसलिए हेल्पलाइन नंबर जारी करने का निर्णय लिया गया है।

वर्जन

डिवीजन में केन्द्र सरकार की उदय योजना के अन्तर्गत स्मार्ट मीटर लगाया जा रहा है। किसी भी कस्टमर को परेशानी होती है तो वह एल एंड टी के हेल्पलाइन नंबर पर फोन कर अपनी समस्या व मीटर की उपयोगिता की जानकारी प्राप्त कर सकता है।

यदुनाथ राम, अधिशाषी अभियंता रामबाग डिवीजन


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.