माइक्रोसाॅफ्ट फाउंडर बिल गेट्स बोले एंड्राइड लाॅन्च होने देना मेरे जीवन की सबसे बड़ी गलती

2019-06-25T13:50:27Z

बिल गेट्स एक ऐसे अमेरिकन हैं जो व्यापारी निवेशक और एक अच्छे लेखक हैं। माइक्रोसाॅफ्ट काॅरपोरेशन में वो चेयरमैन सीईओ और चीफ साॅफ्टवेयर आर्किटेक्ट रह चुके हैं। इतने सालों बाद उन्होंने अपनी जिंदगी की सबसे बड़ी गलती के बारे में खुलासा किया है

कानपुर। हाल ही में कंपनी के फाउंडर्स के लिए एक इवेंट का आयोजन कराया गया था। इवेंट के दौरान बिल गेट्स ने अपनी सबसे बड़ी मिस्टेक के बारे में खुलासा किया। ये मिस्टेक थी गूगल का एंड्राइड प्लेटफार्म को डेवलप करना।इंटरव्यू के दौरान बिल गेट्स ने कहा, 'साॅफ्टवेयर की दुनिया में स्पेशली किसी प्लेटफार्म पर सभी बड़ी कंपनियां मार्केट में छाई हुई हैं।ऐसे में कभी भी कोई बड़ी मिस्टेक होना आपको कामयाबी से एक कदम पीछे खींच लेता।नाॅन एप्पल फोनों को प्लेटफार्म लाॅन्च न करना और एंड्राइड के लिए गूगल को मौका देना मेरी सबसे बड़ी गलती है।अगर ऐसा न होता तो आज माइक्रोसाॅफ्ट एंड्राइड मार्केट में बादशाह होता।'
हो सकता था 400 बिलियन डाॅलर का मुनाफा

गूगल की जगह अगर मार्केट में माइक्रोसाॅफ्ट एंड्राइड डेवलप करता तो उसे 400 बिलियन डाॅलर का मुनाफा हो सकता था जो आज गूगल के खाते में हैं। मालूम हो गूगल ने माइक्रोसाॅफ्ट पर एक मुकदमा भी दर्ज किया था। स्टेटकाउंटर साइट के मुताबिक एंड्राइड के ग्लोबल मोबाइल ओपरेटिंग सिस्टम के मार्केट में मई 2019 तक 75.27 प्रतिशत शेयर्स थे। वहीं एप्पल के आईओएस ने 22.74 प्रतिशत शेयर्स पर कब्जा किया था।जुलाई 2005 में गूगल ने एंड्राइड को 50 मिलियन डाॅलर में खरीद लिया और 2007 में एक ओस लाॅन्च किया। दिसंबर 2018 तक गूगल प्ले स्टोर जो एंड्राइड के लिए एप्लिकेशन मार्केट है, उसमें 2.6 मिलियन एप्स स्टोर थे।
RBI के डेप्यूटी गवर्नर विरल आचार्य का कार्यकाल खत्म होने से पहले इस्तीफा
स्मार्ट फोन बनाने वाली Oneplus 2020 तक लाॅन्च करेगी स्मार्ट टीवी
मार्केट में शेयर्स बेंच कर 1 ट्रिलियन कमाने वाली पहली अमेरिकी कंपनी
बिल गेट्स के कहे मुताबिक माइक्रोसाॅफ्ट अभी भी एक स्ट्रांग कंपनी है।इस साल अप्रैल में माइक्रोसाॅफ्ट ने इतिहास में पहली बार मार्केट में अपने कई शेयर्स बेंच कर 1 ट्रिलियन डाॅलर का मुनाफा कमाया था। ये पिछले 12 महीनों में 40 प्रतिशत तक ही बढ़ा था।वहीं ओएस बनाने वाली विंडोज अमेरिका की तीसरी ऐसी कंपनी है जिसने मार्केट में अपने 1 ट्रिलियन डाॅलर के शेयर्स बेंचे हैं। इससे पहले इस लिस्ट में एप्पल और अमेजन शामिल थीं। हालांकि अभी और भी माइल स्टोन अचीव करना बाकी है।



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.