एग्जाम से पहले ही फेल ना हो जाना

2013-05-02T01:01:07Z

Meerut भविष्य में डॉक्टर बनने का सपना देख रहे हैं तो फॉर्म भरने में गलती ना करें कहीं ऐसा ना हो की सालों की मेहनत के बाद भी आप एग्जाम में ना बैठ पाएं और आपके दोस्त आपसे एक साल आगे बढ़ जाएं

 इस बार से सीपीएमटी के कैंडीडेट्स का बायोमेट्रिक टेस्ट भी होगा. इसमें पास हुए बगैर मेन एग्जाम में नहीं बैठने दिया जाएगा.
क्या है मामला

कंबाइंड प्री मेडिकल टेस्ट के लिए फॉर्म जारी किए जा चुके हैं. ये एग्जाम स्टेट के दस एमबीबीएस कॉलेजों में अगल-अलग कोर्सेज के लिए होते हैं. पहले ये फॉर्म शहर में सिर्फ दो जगहों पर मिल रहे थे, लेकिन अब ये फॉर्म सेंट्रल बैंक की इंद्रा चौक ब्रांच, के ब्लॉक शास्त्री नगर ब्रांच, जेल चुंगी ब्रांच और बांबे बाजार ब्रांच में मिलने लगे हैं.
क्या है बायोमैट्रिक टेस्ट

बायोमैट्रिक टेस्ट कोई बड़ा एग्जाम नहीं है, ना ही इसमें कोई पेपर देना होगा. कैंडीडेट बस फॉर्म भरते समय ये ध्यान रखें कि वो फॉर्म पर अपना लेटेस्ट और क्रिस्टल क्लीयर फोटो ही लगाएं. ये ही फोटो ऑनलाइन एडमिट कार्ड पर लगाया जाएगा. सबसे खास बात ये है कि एग्जाम हॉल में एंट्री से पहले कैंडीडेट का एक फोटो बायोमेट्रिक सिस्टम से लिया जाएगा. मौके पर ही ये फोटो, उस फोटो के साथ मिलाया जाएगा जो फॉर्म पर लगाई गई होगी.
तो फिर फेल
अगर फोटो में थोड़ा भी अंतर आया तो आपको एग्जाम में बैठने नहीं दिया जाएगा. बता दें कि कई एग्जाम में बायोमेट्रिक सिस्टम के तहत अंगूठे का निशान मिलाया जाता है, लेकिन सीपीएमटी में फोटो का मिलान किया जाएगा. इसी बायोमेट्रिक मिलान के लिए कैंडीडेट्स को एग्जाम सेंटर पर समय से 90 मिनट पहले बुलाया गया है. ताकि सभी का फोटो स्कैन किया जा सके.
फॉर्म संभाल कर रखें
इसके साथ ही गुरुद्रोणाचार्य के विजय अरोड़ा का कहना है कि कैंडीडेट अपने फॉर्म की फोटो स्टेट संभाल कर रखें. अगर कैंडीडेट का एडमिट कार्ड ऑनलाइन डाउनलोड नहीं होता है. तो एग्जाम से एक दिन पहले इसी फॉर्म की कॉपी को दिखाने पर एग्जाम सेंटर से डुप्लीकेट एडमिट कार्ड जारी कर दिया जाएगा. लेकिन फॉर्म ना होने पर दूसरा एडमिट कार्ड नहीं मिलेगा.
पहले ना भरे फॉर्म
बैंक से फॉर्म खरीदने के बाद खुद ही ओरिजनल फॉर्म को भरने ना लगें. विजय अरोड़ा का कहना है कि कैंडीडेट फॉर्म भरने से पहले फॉर्म की एक या दो फोटो स्टेट करा लें. पहले इस फोटो स्टेट को भर कर किसी सीनियर से या जानकार से चेक कराएं. उसके बाद ही ओरिजनल फॉर्म भरें. पहले ओरिजनल फॉर्म भरने में गलती हुई तो फिर से 1280 रुपए देकर नया फॉर्म खरीदना होगा. उनका कहना है कि अधिकतर कैंडीडेट फॉर्म भरने में कई गलती करते हैं. इसके साथ ही फॉर्म को स्पीड पोस्ट या रजिस्टर्ड डाक से ही भेजें फॉर्म, कोरियर से फॉर्म एक्सेप्ट नहीं होगा. फॉर्म बैंक से आठ मई तक मिलेंगे. फॉर्म भेजने की लास्ट डेट 15 मई है.



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.