वो अनोखा गेंदबाज जो आसमान की तरफ देखकर करता था गेंदबाजी चटकाए 163 विकेट

2019-01-20T08:30:22Z

क्रिकेट जगत में कर्इ खिलाड़ी आए आैर गए मगर पहचान सिर्फ उन्हें मिली जो खास कर गए। एेसे ही एक अनोखे क्रिकेटर हैं साउथ अफ्रीका के पाॅल एडम्स जिनका आज 42वां जन्मदिन है। एडम्स को उनके अनोखे गेंदबाजी एक्शन के लिए जाना जाता था। जानिए क्या था इसमें खास

कानपुर। 20 जनवरी 1977 को केपटाउन में जन्में पाॅल एडम्स साउथ अफ्रीका के महशूर स्पिन गेंदबाज रहे हैं। एडम्स की खासियत उनकी अनोखी गेंदबाजी थे। वह जिस एक्शन से गेंदबाजी करते थे, उसे किसी क्रिकेट स्कूल में नहीं सिखाया जाता। गेंद फेंकते समय उनका चेहरा आसमान की तरफ रहता आैर वह गेंद स्टंप की लाइन में फेंक देते थे। उनके इस यूनीक बाॅलिंग एक्शन को देखकर लोग उन्हें 'मेंढक गेंदबाज' कहने लगे। हालांकि उनका निक नेम गोगा है।
90 के दशक में रखा इंटरनेशनल क्रिकेट में कदम

पाॅल एडम्स ने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर की शुरुआत 90 के दशक में की। 1995 में जब इंग्लिश टीम अफ्रीका दौरे पर आर्इ तब एडम्स को साउथ अफ्रीकी टेस्ट टीम में जगह मिली। इसके बाद वह टीम से अंदर-बाहर होते रहे मगर आखिरी टेस्ट उन्होंने 2004 में खेला। इस दौरान एडम्स ने कुल 45 टेस्ट मैच खेेले जिसमें 134 विकेट अपने नाम किए। वहीं वनडे में उनके नाम 24 मैचों में 29 विकेट दर्ज हैं।

नहीं समझ में आती थी गेंदबाजी

एडम्स ने अपने शुरुआती करियर में दुनियाभर के बल्लेबाजों को खूब छकाया। इनका गेंदबाजी एक्शन इतना अनोखा था बल्लेबाज गेंद जल्दी समझ नहीं पाता था। एडम्स का हमेशा मानना रहा है कि वह न तो गुगली फेंकते थे न चाइनामैन, उनकी गेंदबाजी 'इनस्पिनर' आैर 'आउटस्पिनर' हुआ करती थी।
चोट के चलते खत्म हुआ करियर
पाॅल एडम्स दुनिया के सर्वश्रेष्ठ स्पिन गेंदबाज बन सकते थे, अगर उन्हें चोट न लगती। दरअसल पाॅल का करियर चोट की भेंट चढ़ गया। कर्इ अहम मौकों पर वह चोटिल होकर टीम से बाहर हुए। फिर दोबारा उनकी साउथ अफ्रीकी टीम में वापसी नहीं हो पार्इ।

एक भारतीय भी एेसे ही करता है गेंदबाजी

आपको बता दें एडम्स की तरह एक भारतीय गेंदबाज भी अनोखे स्टार्इल में गेंदबाजी करता है। ये भारतीय क्रिकेटर हैं शिविल कौशिक। 23 साल का यह युवा गेंदबाज टीम इंडिया में नहीं मगर आर्इपीएल 9 में जरूर खेल चुका। कौशिक गुजरात लाॅयन्स टीम का हिस्सा थे आैर पाॅल एडम्स की तरह ये भी आसमान की तरफ चेहरा रखकर गेंद फेंकते हैं।
वनडे में मैन आॅफ द सीरीज जीतने वाले सबसे उम्रदराज खिलाड़ी बने महेंद्र सिंह धोनी

मैच के बाद धोनी बोले, 'गेंद ले लो नहीं तो लोग कहेंगे कि रिटायरमेंट ले रहा'



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.