बिहार के मंत्री सम्राट चौधरी का कहना है कि जद यू के पास 43 सीटें होने के बावजूद बीजेपी ने नीतीश कुमार को सीएम के रूप में स्वीकार किया है। यह बात उन्होंने औरंगाबाद में एक कार्यक्रम में कही है।


औरंगाबाद (एएनआई)। बिहार के मंत्री और भाजपा नेता सम्राट चौधरी का कहना है कि पार्टी ने नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री के रूप में स्वीकार किया है, जबकि जद (यू) के पास राज्य विधानसभा में भाजपा की 75 सीटों के विपरीत सिर्फ 43 सीटें हैं। सम्राट चौधरी ने औरंगाबाद में भारतीय जनता युवा मोर्चा द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में कहा मौजूदा गठबंधन में नीतीश कुमार ने 43 सीटें जीती हैं और हमने 74 सीटें जीती हैं लेकिन फिर भी, हमने नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री के रूप में स्वीकार किया है। यह कोई नई बात नहीं
भाजपा नेता सम्राट ने पिछले चुनाव में भाजपा-जद (यू) गठबंधन के परिणामों को याद करते हुए कहा कि यह कोई नई बात नहीं है। उन्होंने कहा, बीजेपी ने 2000 में 68-69 सीटें जीती थीं, जबकि जेडी (यू) सिर्फ 37 सीटें हासिल कर पाई थी और इसके बावजूद पार्टी ने नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री के रूप में स्वीकार किया था। इसके साथ ही उन्होंने आगे आरोप लगाया कि बिहार में गठबंधन सरकार चलाना एक चुनौतीपूर्ण काम था क्योंकि एनडीए में अलग-अलग विचारधारा वाले चार राजनीतिक दल शामिल हैं।यह हमारी स्वतंत्र सरकार नहीं


इसके साथ ही उन्हाेंने कहा कि हमारी गठबंधन सरकार है, यह हमारी स्वतंत्र सरकार नहीं है। हमारे लिए बिहार में काम करना बहुत चुनौतीपूर्ण है क्योंकि चार विचारधाराएं एक साथ काम कर रही हैं। ऐसे में हमें कई चीजें बर्दाश्त करनी पड़ती हैं। पिछले साल नवंबर में हुए हालिया चुनाव में, भाजपा ने 74 सीटें जीती थीं, जद-यू ने 43, जबकि आठ सीटों पर अन्य राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) के घटक जीते थे।

Posted By: Shweta Mishra