पश्चिम बंगाल : जेपी नड्डा बोले अंबेडकर ने दलितों का समर्थन किया लेकिन ममता की सरकार दलित विरोधी

पश्चिम बंगाल में डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की जयंती पर आयोजित कार्यक्रम में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा शामिल होने पहुंचे। इस दाैरान उन्होंने सीएम ममता बनर्जी पर निशाना साधा और बनगांव उत्तर विधानसभा में रोड शो भी किया।

Updated Date: Wed, 14 Apr 2021 04:43 PM (IST)

कदंपुकुर (एएनआई)। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रमुख जेपी नड्डा ने बुधवार को पश्चिम बंगाल में के कदंपुकुर में डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की जयंती पर उनकी 130 वीं जयंती पर श्रद्धांजलि दी और कहा कि बाधाओं के बावजूद बीआर अंबेडकर ने कभी भी राष्ट्रवाद के साथ समझौता नहीं किया। जब कांग्रेस ने उन्हें फटकार लगाई, तो उन्होंने सरदार पटेल को लिखा था कि मैं कांग्रेस के किसी भी नेता से अधिक राष्ट्रीयता की भावना से ओतप्रोत हूं। ऐसे में हम उनसे प्रेरणा लेकर समाज में काम करने के लिए दृढ़ संकल्पित हैं। बाबा साहेब एक नेता, विचारक, अर्थशास्त्री, लेखक, समाज सुधारक थे। अंबेडकर यात्रा पर टीएमसी के गुंडे हमला करते हैं
इस दाैरान सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस पर निशाना साधते हुए नड्डा ने कहा कि बाबा साहेब ने स्पष्ट रूप से कहा था कि जो दलित भाई पाकिस्तान में हैं, और जिन पर अत्याचार हो रहे हैं, उन्हें भारत में लाना चाहिए और यहां बसना चाहिए लेकिन यहां की स्थानीय टीएमसी सरकार CAA का विरोध कर रही है। ममता बनर्जी की सरकार दलित विरोधी है। हमें दुख है कि दलित समाज का बेटा आनंदबर्मन पहली बार वोट देने जा रहा था। टीएमसी के गुंडों ने उसकी जीवन लीला समाप्त कर दी और ममता दीदी ने एक शब्द नहीं बोला। हमारी अंबेडकर यात्रा पर टीएमसी के गुंडे हमला करते हैं और बस तोड़ देते हैं। नड्डा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रशंसा कीभाजपा प्रमुख जेपी नड्डा ने कहा कि मैं ममता जी को बताना चाहता हूं कि भले ही इस तरह के हजारों हमले हों, हम बाबा साहेब से प्रेरणा लेकर ऐसी यात्रा करेंगे और काम करेंगे। नड्डा ने दलित समाज को मुख्यधारा में शामिल करने के लिए योजनाओं को शुरू करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दलित समाज को मुख्यधारा में शामिल करने के लिए कई योजनाएं शुरू की हैं। स्टैंड अप इंडिया के तहत, दलित भाइयों को 10 लाख रुपये से 10 करोड़ रुपये के व्यवसाय के लिए वित्तीय सहायता दी जाती है। इसी के कारण दलित भाई संभल रहे हैं।

Posted By: Shweta Mishra
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.