महाराष्ट्र के मुद्दे पर सोमवार को संसद में जमकर हंगामा हुआ। भाजपा सांसदों महाराष्ट्र CM पर को सहायक पुलिस इंस्पेक्टर सचिन वाजे को बहाल करने की सिफारिश लगाने के आरोप लगाए।


नई दिल्ली (एएनआई)। भारतीय जनता पार्टी के सांसद राकेश सिंह ने सोमवार को लोकसभा में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को कथित तौर पर सहायक पुलिस इंस्पेक्टर सचिन वाजे का समर्थन करने के लिए घेरा। सचिन वाजे वही शख्स है जिसे कथित ताैर पर उद्योगपति मुकेश अंबानी के आवास के पास विस्फोटक से भरा वाहन रखने में शामिल बताया जा रहा है। सांसद राकेश सिंह ने कहा कि शायद यह देश का पहला मामला है जहां एक मुख्यमंत्री ने सहायक पुलिस इंस्पेक्टर के समर्थन में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की जिसे कथित ताैर पर 100 करोड़ रुपये का लक्ष्य दिया गया था। सीएम ने कहा कि वह देश के सबसे अच्छे पुलिस कर्मचारी हैं। मैं पूछता हूं ऐसा कैसे हो सकता है? गृह मंत्री अनिल देशमुख पर लगाए गंभीर आरोप
मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह ने शनिवार को सीएम ठाकरे को एक पत्र लिखा जिसमें आरोप लगाया था कि महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख दुर्भावना में लिप्त हो गए और निलंबित एपीआई सचिन वाजे को हर महीने 100 करोड़ रुपये इकट्ठा करने के लिए कहा था। इन आरोपों के बाद गृहमंत्री देशमुख ने कहा था कि परमबीर सिंह को मुंबई के पुलिस आयुक्त के रूप में बाहर कर दिया गया था ताकि वाजे से संबंधित मामलों को बिना किसी बाधा के जांचा जा सके।ध्यान हटाने के लिए बलि का बकरा बनाया गया अब होम गार्ड के कमांडेंट जनरल के रूप में तैनात किए गए परमबीर सिंह ने पत्र में कहा था कि उन्हें गलत काम करने वालों से ध्यान हटाने के लिए बलि का बकरा बनाया गया है। इतना ही नहीं उन्होंने यह भी आरोप लगाया था कि मुंबई पुलिस की अपराध शाखा की अपराध खुफिया इकाई के प्रमुख रहे सचिन वाजे को गृह मंत्री अनिल देशमुख ने पिछले कुछ महीनों में कई बार अपने आधिकारिक आवास पर बुलाया और बार-बार धन संग्रह में सहायता करने का निर्देश दिया था।

Posted By: Shweta Mishra