वीआईपी मूवमेंट ने ट्रैफिक सिस्टम का निकाला दम

2019-02-17T06:01:01Z

उप राष्ट्रपति और राज्यपाल के दौरे के मद्देनजर सड़कों को किया गया ब्लाक

PRAYAGRAJ: शनिवार को देश के कोने-कोने से आए श्रद्धालुओं को संगम स्नान के लिए दिनभर सड़कों पर जाम में खड़ा रहना पड़ा। उन्हें गंतव्य तक पहुंचने में पूरा दिन लग गया। वीआईपी मूवमेंट ने ट्रैफिक का दम निकाल दिया तो वहीं अघोषित सड़क बंदी ने श्रद्धालुओं को जमकर छकाया। उपराष्ट्रपति वैंकैया नायडू और राज्यपाल राम नाईक के दौरे के चलते कुंभनगर एवं उसके आसपास की सड़कें दिनभर जाम रहीं।

परेशान रहे लोग, काटते रहे चक्कर

शनिवार को मेला एरिया सिर्फ वीआईपी मूवमेंट के लिए यूज किया गया था। रूट डायवर्जन पहले से जारी था। इसके बाद भी लोग सपरिवार पहुंचे तो उन्हें बाहर ही यहां से वहां घूमना पड़ गया। वाहनों को अंदर नही जाने दिया गया। इधर उधर चक्कर कटवाए गए। पूरे शहर में वाहन रेंगते रहे। संगम स्नान के लिए गए श्रद्धालु दोपहर 12 बजे से जाम में फंसे तो शाम 4 बजे के बाद ही निकल सके।

संगम नोज मार्ग पर भी जाम

वीआईपी मूवमेंट के मद्देनजर सभी रास्तों और पैंटून पुलों को बंद कर दिया गया। गंगा को पार करने के लिए लोगों को घंटों जाम से जूझना पड़ा तो वही मीडिया सेंटर, सेक्टर 2 से लेकर दारागंज पुल और संगम नोज मार्ग पर दिनभर श्रद्धालु जाम में हलकान रहे। पुलिसकर्मियों ने भी वाहन चालकों को जमकर छकाया। पांटून पुलों पर बेरीकेडिंग करके पुलिसकर्मी वाहन चालकों को गलत जानकारी देते रहे।

वीकंड के चलते श्रद्धालुओं की संख्या अधिक थी। रांग साइड में मूवमेंट की किसी को इजाजत नहीं है। सीसीटीवी कैमरों को देखा जाएगा, जिन सरकारी वाहनों ने नियम तोड़ा है उनके खिलाफ कार्रवाई होगी।

-केपी सिंह, डीआइजी, कुंभ मेला

मेला पुलिस का रवैया न्यूसेंस क्रिएट करने वाला था। बार का प्रोग्राम इस न्यूसेंस के चलते स्थगित करना पड़ा। वीआईपी मूवमेंट के चलते मेला प्रशासन से अपेक्षा है कि वह आगे ऐसा न्यूसेंस क्रिएट नहीं करेगा।

वीसी मिश्रा

चेयरमैन, एल्डर कमेटी, हाई कोर्ट बार एसोसिएशन


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.