सड़क पर कप्तान संभाली ट्रैफिक की कमान

2019-06-27T06:01:02Z

4 ट्रैफिककर्मी सस्पेंड, 10 थाना प्रभारी का वेतन रोका

1300 वाहनों का किया चालान, 150 को किया सीज

भैंसाली बस स्टैंड और जुर्रानपुर फाटक पर बैठे ट्रैफिककर्मियों पर गिरी गाज

Meerut। शहर की पटरी से उतरी ट्रैफिक व्यवस्था को दुरुस्त के लिए बुधवार कप्तान खुद ही सड़क पर उतर आए। शहर के हर प्रमुख चौराहे पर उन्होंने ट्रैफिककर्मियों की मुस्तैदी का रियलिटी चेक किया तो वहीं लापरवाही पर 4 ट्रैफिककर्मियों को निलंबित भी कर दिया। शहर के 10 थानाक्षेत्रों के थाना प्रभारियों को दिन में आराम फरमान की सजा मिली, सभी का एक-एक दिन का वेतन काट लिया गया।

चला जंबो चेकिंग अभियान

शासन के आदेश पर यातायात व्यवस्था सुधार के लिए एसएसपी नितिन तिवारी ने बुधवार सुबह ही वायरलैस सेट से सभी थाना प्रभारियों और यातायात पुलिस को सड़क पर उतरकर बिना हेलमेट और सीट बेल्ट लगाकर नहीं चलने वालों पर कार्रवाई के निर्देश दिए। आदेश के बाद सुबह दस बजे एसएसपी ने खुद ही सड़क पर उतरकर गए। सबसे पहले लालकुर्ती से होते जीरोमाइल पर पहुंचे। यहां ट्रैपिककर्मियों को हिदायत देते हुए वे आगे बढ़ गया।

जाम में फंस गए कप्तान

जीरोमाइल-बेगमपुल होता हुआ अभी कप्तान का काफिला दिल्ली रोड पर आगे बढ़ा ही था कि भैंसाली बस अड्डे पर उनकी कार जाम में फंस गई। सड़क पर बेतरतीब बसों के पीछे एसएसपी की कार लगातार हूटर बजा रही थी तो वहीं साथ चल रहे पुलिसकर्मियों बसों को हटाने की नाकाम कोशिश कर रहे थे। करीब 7 मिनट जाम से जूझने के बाद एसएसपी खुद कार से नीचे उतर आए और ट्रैफिककर्मियों की कदम परेड करा दी। यहां दो ट्रैफिककर्मी एचसीपी खेमचंद और सिपाही ब्रह्मासिंह चेकिंग के बजाय धूप से बचकर बैठे थे। एसएसपी ने दोनों को लताड़ लगाते हुए तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया।

लगाई गुहार, नहीं बनी बात

कार्रवाई का ऐलान करते एसएसपी जाने लगे तो दोनों पुलिसकर्मियों ने कार को घेर लिया और कार्रवाई न करने के लिए मनुहार लगाने लगे। एचसीपी ने दरवाजा पकड़ लिया जिसपर कप्तान ने कड़ी फटकार लगाते हुए कार का दरवाजा छोड़ने के लिए कहा तो वहीं सिपाही ब्रह्मासिंह ने हाथ जोड़कर माफी मांगी। लापरवाही पर सख्त कार्रवाई कर एसएसपी का काफिला आगे बढ़ गया। एसएसपी वहां से दिल्ली रोड होते हुए शॉप्ररिक्स मॉल पर पहुंचे, यहां कुछ देर रुकने के बाद बाईपास से होते हुए जुर्रानपुर फाटक पर पहुंचे। यहां हेडकांस्टेबल ब्रिजेश और एचसीपी शांति मुस्तैद नहीं थे। दोनों को तत्काल सस्पेंड करने के आदेश कप्तान ने दिए। यहां से एसएसपी बिजली बंबा बाईपास, तेजगढ़ी चौराहा होते हुए आवास पर निकल गए।

ताबड़तोड़ कार्रवाई

यातायात पुलिस और सिविल पुलिस ने संयुक्त रूप से अभियान में 1300 वाहनों के चालान किए है, 150 वाहनों को सीज कर दिया है। टू व्हीलर वाहनों में हेलमेट नहीं लगाने और फोर व्हीलर वाहनों पर सीट बेल्ट नहीं लगाने पर कार्रवाई हुई। निर्धारित गति से वाहन नहीं चलाने वालों का भी चालान काटा गया। मोबाइल पर बात करते वाहन चलाने वालों को भी रोक कर उनकी वीडियो बनाई गई।

शहर में हेलमेट और सीट बेल्ट लगाना अनिवार्य कर दिया है। किसी टू-व्हीलर वाहन चालकों को भी बिना हेलमेट और फोर व्हीलर वाहन चालकों को सीट बेल्ट लगाए जनपद की सड़कों पर चलने नहीं दिया जाएगा। अभियान जारी रहेगा।

नितिन तिवारी, एसएसपी, मेरठ


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.