Hathras Case: यूपी में राहुल-प्रियंका गांधी समेत 200 लोगों के खिलाफ FIR दर्ज, फोरेंसिक रिपोर्ट के मुताबिक नहीं हुआ दुष्कर्म

Updated Date: Fri, 02 Oct 2020 10:12 AM (IST)

राहुल गांधी व प्रियंका गांधी गुरुवार को हाथरस में सामूहिक दुष्कर्म की शिकार पीड़िता के परिजनों से मिलने पहुंचे थे। इस दाैरान गौतम बौद्ध नगर कांग्रेस नेताओं राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा और 200 से अधिक अन्य लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई है। यहां पढ़ें पूरा मामला...


गौतम बुद्ध नगर (एएनआई)। उत्तर प्रदेश के हाथरस में सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता की माैत के बाद से यहां हालात काफी गंभीर हैं। प्रशासन ने धारा 144 लगा रखी है। इस बीच गुरुवार को जब कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा कई अन्य नेताओं के साथ पीड़ित परिवार से मिलने पहुंचे तो सियासत और गर्मा गई। गौतम बुद्ध नगर पुलिस के अनुसार, कांग्रेस नेताओं राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा और 200 से अधिक अन्य लोगों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) और महामारी अधिनियम की धारा 188, 269 और 270 के तहत मामला दर्ज किया गया है।किसी पर कोई लाठीचार्ज नहीं किया गया
वहीं इससे पहले राहुल और प्रियंका को उत्तर प्रदेश पुलिस ने यमुना एक्सप्रेसवे पर गिरफ्तार किया था। दोनों कांग्रेसी नेताओं ने आरोप लगाया कि जब वे पीड़ित परिवार से मिलने जा रहे थे उस समय पुलिसकर्मियों ने उनके साथ हाथापाई और लाठीचार्ज किया। हालांकि इस संबंध में नोएडा के अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त रणविजय सिंह ने कहा कि किसी पर कोई लाठीचार्ज नहीं किया गया था। यह आरोप लगाए जा रहे हैं। फोरेंसिक रिपोर्ट में दुष्कर्म की पुष्टि नहीं


वहीं उत्तर प्रदेश के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून एवं व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने कहा कि हाथरस पीड़िता की फोरेंसिक रिपोर्ट में दुष्कर्म या सामूहिक दुष्कर्म की पुष्टि नहीं हुई है। राज्य सरकार ने मामले की जांच के लिए तीन सदस्यीय विशेष जांच दल (SIT) का गठन किया है और कहा है कि इस मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में की जाएगी। मामले के सभी चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है।पीड़िता का 3 दिन पहले निधन हो गया बता दें कि हाथरस में 14 सितंबर को 19 साल की युवती के साथ कथित सामूहिक दुष्कर्म किए जाने का मामला सामने आया था। पीड़िता को अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कालेज और अस्पताल में भर्ती कराया गया था। हालत में सुधार के कोई संकेत नहीं मिलने के बाद सोमवार को अलीगढ़ से दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल भेज दिया गया था। पीड़िता का 3 दिन पहले निधन हो गया था।

Posted By: Shweta Mishra
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.