सीबीआई ने शनिवार को उत्तर प्रदेश के हाथरस में कथित सामूहिक दुष्कर्म और मौत मामले की जांच अपने हाथ में ले ली है। बता दें कि इस मामले की जांच के लिए सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने सिफारिश की थी। यहां पढ़ें पूरा मामला...


हाथरस (एएनआई)। उत्तर प्रदेश के हाथरस सामूहिक दुष्कर्म मामले की जांच को अब केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने शनिवार को अपने हाथ में ले ली है। हाल ही में सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने इस मामले की जांच को सीबीआई के हाथों में देने की सिफारिश की थी। राज्य सरकार ने इस मामले की जांच के लिए एक एसआईटी का भी गठन किया है। एसआईटी अभी इस मामले की जांच कर रही है। पहले उसे जांच रिपोर्ट देने के लिए 7 दिन का समय दिया गया था लेकिन बीते 7 अक्‍टूबर को उसे 10 दिन का और समय दिया गया है। एसआईटी की टीम घटना स्थल से लेकर गांव वालों से भी पूछताछ कर रही है। सीएम ने अधिकारियों को किया निलंबित


हाथरस मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हाथरस के पुलिस अधीक्षक, डीएसपी और कुछ अन्य पुलिस अधिकारियों को पहले ही निलंबित कर दिया है। हाल ही में उन्होंने यह भी कहा कि उत्तर प्रदेश में माताओं-बहनों के सम्मान-स्वाभिमान को क्षति पहुंचाने का विचार मात्र रखने वालों का समूल नाश सुनिश्चित है। इन्हें ऐसा दंड मिलेगा जो भविष्य में उदाहरण प्रस्तुत करेगा। आपकी उत्तर प्रदेश सरकार प्रत्येक माता-बहन की सुरक्षा व विकास हेतु संकल्पबद्ध है।कथित सामूहिक दुष्कर्म का मामला

बता दें कि हाथरस में 14 सितंबर को 19 साल की युवती के साथ कथित सामूहिक दुष्कर्म किए जाने का मामला सामने आया था। पीड़िता को अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कालेज और अस्पताल में भर्ती कराया गया था। हालत में सुधार के कोई संकेत नहीं मिलने के बाद उसको अलीगढ़ से दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल भेज दिया गया था। पीड़िता ने उपचार के दाैरान करीब 15 दिन बाद इस दुनिया को अलविदा कह दिया।

Posted By: Shweta Mishra