सीसीटीवी में दिखे मास्टर जी पुलिस को तलाश

2014-06-01T07:02:38Z

- दस दिनों के भीतर पुलिस ने अपराधियों को धरदबोचा

- एक कारबाईन और देशी पिस्टल के साथ चार दो जिंदा कारतूस भी बरामद

- सीसीटीवी से हुआ इलाहाबाद बैंक लूटकांड का खुलासा, दो गिरफ्तार

rajan.anand@inext.co.in

PATNA : पटना पुलिस की टीम ने दो बैंक लूट कांड का खुलासा किया है। इसमें इन्वॉल्व दो अपराधी हथियार के साथ पकड़े गए और पुलिस का दावा है कि लूटी गई रकम का कुछ हिस्सा बरामद कर लिया गया है। इस मामले में पुलिस ने विमलेश कुमार उर्फ शशि रंजन और रंजीत कुमार को अरेस्ट किया है। इनके पास से एक कारबाईन, एक देशी पिस्टल सहित चार गोली बरामद की गई है। सीनियर एसपी मनु महाराज के आदेश पर सिगौड़ी थाना के चंडोस इलाहाबाद बैंक से लूटे गए 92,395 रुपए की बरामदगी के लिए एक टीम गठित की गयी थी। इसमें एएसपी पालीगंज, थानाध्यक्ष सिगौड़ी, दुल्हिनबाजार, भगवान बाजार और खीरी मोड़ को शामिल किया गया। अपराधियों ने इस लूट को 21 मई को दिन दहाड़े अंजाम दिया। पकड़े गए क्रिमिनल्स ने कुछ दिन पहले हुए उसी एरिया में एक और डकैती कांड में अपना इन्वॉल्वमेंट स्वीकारा है।

मास्टर जी है मास्टर माइंड

पकड़े गए क्रिमिनल्स ने पुलिस के समक्ष यह स्वीकार किया कि चार लोगों का गिरोह है। इसका मास्टर माइंड मसौढ़ी का मास्टर जी है। मास्टर जी के असली नाम का खुलासा फिलहाल पुलिस नहीं कर रही है, जबकि मास्टर जी उसका निक नेम है। पुलिस का दावा है कि इस कांड में शामिल मास्टर माइंड मास्टर और उसके एक अन्य साथी को अरेस्ट कर लिया जाएगा। सीनियर एसपी ने बताया कि यह गिरोह एक नया डकैतों का गिरोह है, जिसे मास्टर जी संचालित करता है। लूट कांड में इन लोगों को मिला हिस्सा पचास हजार था, जबकि दोनों लूट कांडों में इन लोगों ने करीब दो लाख रुपए लूटे थे। सीनियर एसपी ने बताया कि इस कांड के खुलासे में बैंक में लगे सीसीटीवी का अहम रोल है। सारे क्रिमिनल्स उसमें दिख रहे थे। जिन्हें पकड़ने में आसानी हुई।

बैंकों को बदलना होगा अपना रवैया

- सीनियर एसपी ने आगाह किया कि हर बैंक को सिक्योरिटी नॉ‌र्म्स को पूरा करना होगा

- पटना पुलिस जल्द करेगी बैंकों के साथ मीटिंग, दिए जाएंगे आदेश

- बड़ी रकम ले जाने के दौरान पुलिस को देनी होगी जानकारी

- हर हाल में सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएं और वो सही काम करे

PATNA : बैंक लूट और डकैती की बढ़ती वारदात में सिक्योरिटी लैप्स अहम बात बनती जा रही है। इसे लेकर पटना पुलिस अब सीरियस है। यही कारण है कि सीनियर एसपी मनु महाराज ने बैंकों को इस दिशा में कड़े निर्देश देने की सोच रखी है। जल्द ही सिक्योरिटी लैप्सेस को लेकर एक बड़ी मीटिंग बैंक ऑफिसर्स और सीनियर एसपी के साथ होने वाली है। इस संबंध में सीनियर एसपी ने बताया कि अगर बैंकों द्वारा सही तरीके से सिक्योरिटी का ख्याल रखा जाए तो ऐसी वारदातें काफी हद तक कम हो जाएंगी। कई बार ऐसे निर्देश देने के बाद बैंक इसे अनसुना कर रहे हैं, लेकिन इस बार पटना पुलिस इसे सीरियसली से ले रही है। अगर इस पर ध्यान नहीं दिया गया तो जरूरी कार्रवाई की जाएगी।

खुद भी करना होगा सिस्टम दुरुस्त

सीनियर एसपी ने बताया कि कई बैंकों में जरूरत पड़ने पर सीसीटीवी कैमरे काम नहीं करते हैं। यहां तक कि सिक्योरिटी गा‌र्ड्स भी जो रखे जा रहे हैं उनके पास फर्जी लाइसेंस मिल रहे हैं। इसके अलावा बड़ी रकम भेजने के दौरान पुलिस को कोई खबर नहीं दी जा रही है। ये सारी चीजें लापरवाही की जद में आती है। इस पर संज्ञान लिया जाएगा। यूनियन बैंक से हुए एक करोड़ लूट कांड में सिक्योरिटी लैप्स ही मुख्य कारण था। यहां तक कि पैसे को जमुई भेजना था। यह जानकारी भी एक दिन पहले लीक हो चुकी थी।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.