Chardham Yatra हेली टिकट के नाम पर फिर जालसाजी

2019-06-06T10:55:35Z

Chardham Yatra के दाैरान केदारनाथ धाम के लिए हवाई टिकटों की कालाबाजारी और जालसाजी के मामले रुकने का नाम नहीं ले रहे हैं

- मुंबई के यात्री से छह टिकट की एवज में 31800 रुपये खाते में जमा करवाए

- यात्री की शिकायत पर पुलिस ने एशियन होलीडेज एजेंसी के खिलाफ मुकदमा किया दर्ज

dehradun@inext.co.in
RUDRAPRAYAG: केदारनाथ धाम के लिए हवाई टिकटों की कालाबाजारी और जालसाजी के मामले रुकने का नाम नहीं ले रहे हैं. हालांकि प्रशासन जालसाजों पर शिकंजा कसने का दावा कर रहा है, लेकिन इसके बाद भी केदारघाटी में कई गिरोह सक्रिय हैं. वेडनसडे को जालसाजी का एक और नया मामला सामने आया, जबकि इससे पहले मंडे को तीन मामले उजागर हुए थे. यात्री की शिकायत पर पुलिस ने एशियन होलीडेज एजेंसी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है.

केदारघाटी में जालसाज सक्रिय
केदारघाटी में हेली टिकटों की कालाबाजारी के साथ ही जालसाज गिरोह सक्रिय है. ऑनलाइन टिकट लेकर हेलीपैड तक पहुंचने वाले यात्रियों में कुछ के टिकट फर्जी निकल रहे हैं. हालांकि प्रशासन इन पर नजर रखने के दावे कर रहा है, लेकिन इसके बाद भी श्रद्धालु इनके चंगुल में फंस रहे हैं. मंडे को तीन ऐसे मामलों में एफआईआर दर्ज कराई गई थी, वेडनसडे को एक और मामला सामने आया. केदारनाथ यात्रा पर आए मुंबई निवासी विपिन यादव ने बताया कि ऑनलाइन हेली टिकट सर्च करने पर उन्हें एक व्यक्ति का कॉल आया. उसने पवनहंस कंपनी के टिकट ऑनलाइन बुक कराने की बात कही. 6 टिकटों की एवज में उन्होंने 31800 रुपये का भुगतान पेटीएम के माध्यम से उस व्यक्ति द्वारा दिए गए बैंक एकाउंट में किया. उसने खुद को एशियन होलीडेज एजेंसी का एजेंट बताया. शिकायतकर्ता को मेल के माध्यम से टिकट कंफर्म की गई, लेकिन टिकट उपलब्ध नहीं कराया. पुलिस अधीक्षक अजय सिंह ने बताया कि मामला संज्ञान में आने पर पुलिस ने एशियन होलीडेज एजेंसी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया. कहा कि अगर किसी अन्य की संलिप्ता भी पाई जाती है उसके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी.

 

var width = '100%';var height = '360px';var div_id = 'playid34';playvideo(url,width,height,type,div_id);

Posted By: Ravi Pal

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.