यूपी में जहरीली शराब से मौतों पर सीएम सख्त कर्इ पुलिसकर्मी सस्पेंड आर्थिक मदद का एेलान

2019-02-09T12:40:51Z

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कुशीनगर और सहारनपुर में अवैध शराब से हुई लोगों की मृत्यु की घटना पर कड़ा रुख अख्तियार किया है।

lucknow@inext.co.in
LUCKNOW: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कुशीनगर और सहारनपुर में अवैध शराब से हुई लोगों की हुर्इ माैत के मामले में डीजीपी और आबकारी विभाग को इस घटना के जिम्मेदारों को चिन्हित कर सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिये। उन्होंने दोनों जिलों के डीएम को प्रभावित व्यक्तियों का समुचित इलाज कराने के साथ मृतकों के आश्रितों को दो-दो लाख रुपये तथा अस्पतालों में इलाज करा रहे प्रभावितों को 50-50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता दिये जाने की घोषणा की।

जांच कर एक हफ्ते में रिपोर्ट देने के निर्देश दिए
सीएम ने प्रमुख सचिव आबकारी को दोनों जनपदों के जिला आबकारी अधिकारियों के विरुद्ध विभागीय कार्रवाई करने को भी कहा है। साथ ही आबकारी और पुलिस विभाग को अवैध शराब से जुड़े लोगों के विरुद्ध 15 दिनों का संयुक्त अभियान चलाने के निर्देश भी दिये। डीजीपी मुख्यालय के मुताबिक देर शाम तक सहारनपुर में 16 जबकि कुशीनगर में आठ लोगों की मृत्यु हो चुकी है। आईजी जोन को सौंपी गयी जांच मुख्यमंत्री के सख्त तेवरों के बाद डीजीपी ओपी सिंह ने सहारनपुर और गोरखपुर के आईजी जोन को पूरे प्रकरण की जांच कर एक हफ्ते में रिपोर्ट देने के निर्देश दिए है।

आबकारी विभाग के कर्मचारी सस्पेंड किये गये

सहारनपुर के एसएसपी ने इस मामले में दस पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया है जबकि कुशीनगर में पांच पुलिसकर्मी व चार आबकारी विभाग के कर्मचारी सस्पेंड किये गये है। कुशीनगर में प्रभारी निरीक्षक तरयासुजान विनय पाठक, एसआई भीखू राम, आरक्षी अनिल कुमार यादव व कमलेश यादव के अलावा आबकारी विभाग के निरीक्षक हृदय नारायण पाठक,  प्रधान आबकारी आरक्षी प्रहलाद सिंह व राजेश कुमार तिवारी, आबकारी आरक्षी रवींद्र कुमार व ब्रहमानंद श्रीवास्तव को सस्पेंड कर दिया गया है। कुशीनगर में मुकदमा दर्ज कर एक आरोपी राजेंद्र जायसवाल को गिरफ्तार किया जा चुका है जबकि बाकियों की तलाश की जा रही है।



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.