नवोदय विद्यालय के 21 बच्चों की तबियत बिगड़ी

Updated Date: Wed, 29 Apr 2015 07:01 AM (IST)

प्रशासन में मचा हड़कंप, डीएम के निर्देश पर सीडीओ, एसडीएम और एसीएमओ पहुंचे

सप्लायर के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने के निर्देश, खाने-पीने की चीजों ने सैंपल लिए

चिकित्सकों ने दूषित खाने या पानी से तबियत बिगड़ने की जताई आशंका

SARDHNA : जवाहर नवोदय विद्यालय में मंगलवार सुबह ख्क् बच्चों की तबियत अचानक बिगड़ गई। एंबुलेंस की सहायता से उन्हें सीएचसी में भर्ती कराया गया। मामले की जानकारी मिलने से प्रशासन में हड़कंप मच गया। डीएम के निर्देश पर सीडीओ, एसडीएम और एसीएमओ जांच को पहुंचे। अधिकारियों ने विद्यालय में पहुंच कर भी जांच-पड़ताल की। इस दौरान विद्यालय की रसोई और आसपास काफी गंदगी मिली। खाद्य विभाग और जल निगम के कर्मचारियों ने पानी और खाने-पीने की चीजों के सैंपल लिए। सीडीओ ने विद्यालय में खाने-पीने की वस्तुओं की आपूर्ति करने वाले सप्लायर के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने के निर्देश दिए हैं। सभी बच्चों की हालत अब ठीक है।

नवोदय विद्यालय के कुछ बच्चों ने मंगलवार सुबह दस्त की शिकायत की तो उप प्राचार्य सीपी सिंह ने सीएचसी प्रभारी डा। आरके सागर से इस संबंध में बातचीत की। डा। सागर ने बच्चों को चेकअप के लिए सीएचसी तक लाने के लिए तीन एंबुलेंस विद्यालय में भेज दी। सीएचसी में छात्रा लक्ष्मी और शिवानी की तबियत अधिक बिगड़ने पर उसे ड्रिप लगानी पड़ी।

बच्चों की हालत बिगड़ने की जानकारी प्रशासन को मिली तो हड़कंप मच गया। डीएम के निर्देश पर सीडीओ नवनीत चहल, एसडीएम शिवकुमार, एसीएमओ अशोक निगम पहले सीएचसी पहुंचे और बच्चों का हाल-चाल जाना। बच्चों ने बताया कि उन्होंने सुबह नाश्ते में पोहा खाया था। अधिकारियों ने आशंका जताई कि पोहा या पीने के पानी से बच्चों की तबियत बिगड़ी है। इसके बाद अधिकारी जांच-पड़ताल के लिए विद्यालय पहुंचे। विद्यालय में रसोई और जहां बच्चे पानी पीते हैं वहां गंदगी मिली। काफी मक्खियां वहां भिनभिना रही थीं। अधिकारियों ने तत्काल सफाई कराने के निर्देश दिए। इसके अलावा जल निगम ने विद्यालय में अलग-अलग जगह से पीने के पानी के भ् सैंपल भरे। खाद्य विभाग के कर्मचारियों ने खाने-पीने की वस्तुओं के सैंपल लिए। सीडीओ ने खाना बनाने में इस्तेमाल होने वाले मसाले, चीनी, सब्जी आदि की खराब गुणवत्ता पर भी नाराजगी जताई और सप्लायर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने के निर्देश प्रधानाचार्य डा। एएन राय को दिए।

'इतनी गंदगी और मक्खी ऐसे में बीमार ही होंगे बच्चे'

- विद्यालय में निरीक्षण के दौरान सीडीओ ने रसोई में पसरी गंदगी को देखते ही कहा कि इतनी मक्खियां यहां मंडरा रही हैं। ऐसे में तो बच्चे बीमार होंगे ही। उन्होंने खाने में ताजा सब्जियां, ब्रांडेड मसाले इस्तेमाल करने और हर चीज में गुणवत्ता का खास ख्याल रखने को कहा। आरओ और पानी की टंकी की नियमित सफाई और भविष्य में सफाई व्यवस्था पर अधिक ध्यान देने के निर्देश दिए।

शनिवार को भी बीमार हुए थे कई बच्चे

- मंगलवार को सीएसी पहुंचे बच्चों ने बताया कि कुछ बच्चे शनिवार में भी बीमार पड़ गए थे। जिसके चलते उन्हें उपचार के लिए सीएचसी लाया गया था।

इन्होंने कहा

बच्चों की तबियत बिगड़ने पर उन्हें सीएचसी में भर्ती कराया गया। संभवत: खाने और पानी की वजह से उनकी तबियत बिगड़ी। अब सभी की हालत ठीक है। विद्यालय से पानी और खाने की वस्तुओं के नमूने जांच को भेजे गए हैं। विद्यालय साफ-सफाई की स्थिति ठीक नहीं मिली है। स्कूल प्रबंधन को ध्यान देने के निर्देश दिए हैं। साथ ही खाने की वस्तु सप्लाई करने वाले के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने के निर्देश दिए हैं।

-नवनीत सिंह चहल, सीडीओ

बच्चों की तबियत खाने या पानी की वजह से नहीं बिगड़ी। स्कूल के सभी बच्चों ने वही खाना खाया और पानी पीया है। कुछ बच्चे छुट्टी नहीं मिलने के कारण बीमारी का बहाना बना रहे थे। जिन्हें चेकअप के लिए एंबुलेंस से सीएचसी लाया गया था। सभी बच्चों की हालत ठीक है।

-डा। एएन राय, प्रधानाचार्य जवाहर नवोदय विद्यालय।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.