चीन में तीसरे बच्चे को जन्म देने के लिए दंपत्ति पर लगा छह लाख रुपये का जुर्माना

2019-02-18T16:05:11Z

आबादी के संकट से देश को उभारने के लिए चीन के नेता आबादी बढ़ाने के पक्ष में हैं लेकिन दूसरी ओर वहां के अधिकारी ऐसा नहीं चाहते हैं। अधिकारियों ने चीन में तीसरे बच्चे को जन्म देने के लिए दंपत्ति पर छह लाख रुपये का जुर्माना लगा दिया है।

बीजिंग (एपी)। चीन की घटती आबादी और बुजुर्गों की बढ़ती संख्या को देखते हुए एक ओर वहां के नेता लोगों को ज्यादा से ज्यादा बच्चे को जन्म देने के लिए कह रहे हैं लेकिन दूसरी तरफ वहां के अधिकारी इसके विरोध में हैं। जी हां, चीन में तीसरा बच्चा पैदा होने पर एक दंपती पर छह लाख रुपये से ज्यादा का जुर्माना लगा दिया गया है। इससे लोगों में भारी गुस्सा है। इस जुर्माने के चलते सुर्खियों में आये वांग दंपती का कहना है कि हमने किसी दूसरे देश को अपने लोगों पर इस तरह का जुर्माना लगाते हुए नहीं देखा है। बता दें कि चीन के शेनदोंग प्रांत के अधिकारियों ने जनवरी, 2017 में तीसरे बच्चे के जन्म पर वांग दंपती को सामाजिक क्षतिपूर्ति शुल्क के नाम पर 64 हजार 626 युआन (करीब छह लाख 82 हजार रुपये) का भुगतान करने के लिए कहा था। जब दंपत्ति इस भारी भरकम पैसे का भुगतान नहीं कर पाई तो उनके बैंक खाते में जमा 22 हजार 959 युआन जब्त कर लिया गया और बाकी के रकम को बकाया कर दिया गया।

नौकरी में डिमोशन तक का प्रावधान

चीन की वेइबो माइक्रोब्लॉगिंग सर्विस पर लियानपेंग ने लिखा है कि देश में बच्चे पैदा करने को प्रोत्साहित करने के लिए सरकार सब कुछ करने को तैयार है लेकिन स्थानीय सरकारों को पैसे की जरूरत है, इसलिए वह इस तरह के नियम को लागू नहीं होने दे रही हैं। इसके अलावा पत्रकार जिन वेई ने लिखा है, 'देश में कम होती आबादी को लेकर हर कोई परेशान है, फिर भी स्थानीय सरकारें पैसों की परवाह कर रही हैं।' बता दें कि चीन में 1970 और 1980 के बीच 'एक संतान' नीति के साथ ही परिवार नियोजन के सख्त नियम लागू किए गए थे। इसके उल्लंघन पर चीन में जबरन गर्भपात से लेकर जुर्माने और नौकरी में डिमोशन तक कर दिया जाता था।

'गोल्ड' के बाद इन दो फिल्मों में दिखेंगी मौनी, बताया किस वजह से अब तक हैं सिंगल


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.