ताइवान को हथियार बेचने वाली अमेरिकी कंपनी पर प्रतिबंध लगाएगा चीन

2019-07-13T11:55:46Z

चीन ने अमेरिकी कंपनी को धमकी दी कि अगर उसने स्वशासित ताइवान के साथ हथियार बिक्री समझौते पर आगे बढ़ने की कोशिश की तो उस पर प्रतिबंध लगा दिया जाएगा। इसके साथ चीन ने अमेरिका से यह भी कहा है कि ताइवान की राष्ट्रपति को अपने देश से होकर न जानें दें।

बीजिंग (रॉयटर्स)। चीन ने शुक्रवार को अमेरिकी कंपनी को धमकी दी कि अगर उसने स्वशासित ताइवान के साथ 2.2 बिलियन अमेरिकी डॉलर (150.82 अरब रुपये) के हथियार बिक्री समझौते पर आगे बढ़ने की कोशिश की तो उस पर प्रतिबंध लगा दिया जाएगा। चीन स्वशासित ताइवान को भी अपना अभिन्न हिस्सा मानता है और बलपूर्वक उसे अपने देश में मिलाने की इच्छा रखता है। चीन ने अमेरिका से यह भी कहा है कि वह ताइवान की राष्ट्रपति साई इंग-वेन को अपने देश से होकर न गुजरने दे। साई फिलहाल न्यूयॉर्क में हैं और दो दिनों तक ठहरने के बाद कैरेबियाई देशों के दौरे पर चली जाएंगी। वापसी में वह डेनवर में ठहरेंगी।

साई के 2016 में सत्ता में आने के बाद से चीन सख्त
बता दें कि ताइवान की आजादी की वकालत करने वाली साई के 2016 में सत्ता में आने के बाद से चीन ने ताइवान को लेकर अपना रुख सख्त कर दिया है। चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने एक बयान में यहां कहा, 'राष्ट्रहित की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए चीन ताइवान को सैन्य उपकरण बेचने वाली अमेरिकी कंपनी पर प्रतिबंध लगा सकता है। इस सौदे से चीन की संप्रभुता और राष्ट्रीय सुरक्षा प्रभावित होती है।' गेंग ने कहा कि यह बिक्री अंतरराष्ट्रीय कानून के आधारभूत नियमों, अंतरराष्ट्रीय संबंध, एक चीन सिद्धांत व चीन-अमेरिका के तीन संयुक्त बयानों का भी उल्लंघन करती है।

पहले अमेरिका से किया था अनुरोध

इससे पहले मंगलवार को चीन ने अमेरिका से आग्रह कि वह तुरंत हथियारों की बिक्री पर रोक लगाए और साथ ही ताइवान से अपने सभी सैनिकों को वापस बुलाए। प्रवक्ता गेंग शुआंग अपने आधिकारिक बयान कहा था, 'हमने अमेरिका से उसके वादों का सम्मान करने की बात कही है और इसके साथ हमने बेहतर संबंधों को बरकरार रखने के लिए उससे ताइवान के साथ होने जा रही हथियार की डील पर भी रोक लगाने का अनुरोध किया है।' बता दें कि सोमवार की रात पेंटागन की तरफ से अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के प्रशासन को 108 एब्राम टैंक, 250 स्टिंगर मिसाइलों और संबंधित उपकरणों की बिक्री की मंजूरी मिलने के बाद गेंग की यह टिप्पणी सामने आई है।



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.