Live Blog

Citizenship Amendment Bill 2019 Live: बुधवार को राज्‍यसभा में पेश होगा बिल, विरोध के चलते त्रिपुरा में इंटरनेट पर रोक

Updated Date: Thu, 01 Jan 1970 06:03 AM (IST)

नागरिकता संशोधन बिल-2019 सोमवार को आधी रात लोकसभा में पास हो गया। बिल पारित होते ही विरोध में मंगलवार को असम में लोग सड़कों पर उतर आए और आगजनी कर प्रदर्शन करने लगे। बिल का संसद में कांग्रेस सहित कुछ दलों ने यह कहते हुए विरोध किया कि यह संविधान के अनुच्छेद 14 का उल्लंघन है। धर्म के आधार पर नागरिकता देना गलत कदम है। कुछ लोगों ने ट्वीट करके इस बिल के खिलाफ तीखी प्रतिक्रिया दी है तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिल के पास होने पर खुशी जाहिर करते हुए गृहमंत्री अमित शाह की प्रशंसा की। आलोचना करते हुए एक अमेरिकी आयोग ने राज्यसभा से भी बिल के पारित होने की दशा में अमित शाह सहित कुछ नेताओं पर प्रतिबंध की मांग की है।

नागरिकता संशोधन बिल-2019 सोमवार को आधी रात लोकसभा में पास हो गया। बिल पारित होते ही विरोध में मंगलवार को असम में लोग सड़कों पर उतर आए और आगजनी कर प्रदर्शन करने लगे। बिल का संसद में कांग्रेस सहित कुछ दलों ने यह कहते हुए विरोध किया कि यह संविधान के अनुच्छेद 14 का उल्लंघन है।

HIGHLIGHT

  1. नागरिकता संशोधन बिल-2019 लोकसभा में सोमवार को पारित
  2. कांग्रेस सहित कई पार्टियों का विरोध
  3. पीएम नरेंद्र मोदी ने गृहमंत्री अमित शाह का दी बधाई
  4. बुधवार को राज्यसभा में पेश होना है बिल
  5. अमेरिका के एक आयोग ने की बिल की आलोचना
10 Dec,2019
    18:57 PM

    #CitizenshipAmendmentBill2019 to be introduced in Rajya Sabha at 2 pm tomorrow. pic.twitter.com/cupTtvbpzj

    — ANI (@ANI) December 10, 2019

    18:56 PM

    Congress party has asked all state units to hold 'Dharna Pardarshan' tomorrow in the state headquarters, against the #CitizenshipAmendmentBill2019 pic.twitter.com/INOj3rkz39

    — ANI (@ANI) December 10, 2019

    18:54 PM

    त्रिपुरा में मंगलवार को दोपहर 2 बजे से 48 घंटे के लिए इंटरनेट सेवाओं को निलंबित कर दिया गया है। यह कदम नागरिकता संशोधन विधेयक के खिलाफ चल रहे विरोध प्रदर्शन के मद्देनजर उठाया गया है। एक आधिकारिक अधिसूचना में कहा गया है कि यह कदम अफवाहें फैलने से रोकने के लिए उठाया गया है।

    17:36 PM

    नागा स्‍टूडेंट फेडरेशन (NSF) के सदस्‍यों ने मंगलवार को नागालैंड की राजधानी कोहिमा में राजभवन के बाहर नागरिकता (संशोधन) विधेयक के विरोध में धरना दिया व इसकी तत्काल वापसी की मांग की।

    17:31 PM

    कांग्रेस ने मंगलवार को कहा कि उसने राज्यसभा में विवादास्पद नागरिकता (संशोधन) विधेयक का समर्थन करने पर पुनर्विचार के शिवसेना के फैसले का स्वागत किया। उद्धव ठाकरे के नेतृत्‍व वाली पार्टी ने सोमवार को विधेयक के पक्ष में मतदान किया था।

    17:05 PM

    असम में नागरिकता (संशोधन) विधेयक के विरोध के बीच, राज्य के सीएम सर्बानंद सोनोवाल ने मंगलवार को इसके पारित होने का स्वागत किया और इसे 'ऐतिहासिक क्षण' बताया।

    17:05 PM

    राजस्थान के उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने मंगलवार को आरोप लगाया कि नागरिकता (संशोधन) विधेयक को पेश करने के सरकार के फैसले के पीछे राजनीति है। उन्होंने दावा किया कि विधेयक बेरोजगारी और धीमी आर्थिक वृद्धि जैसे मुद्दों से लोगों का ध्यान हटाने की कोशिश है।

    17:05 PM

    नई दिल्‍ली में मजनू का टीला क्षेत्र में रह रहे पाकिस्तान से आए हिंदू शरणार्थियों ने लोकसभा में नागरिकता (संशोधन) विधेयक 2019 पारित होने पर खुशी जताई है। एएनआई से बात करते हुए, दयाल दास ने कहा: 'मैं यहां लगभग सात साल से रह रहा हूं। मैं मार्च 2013 में यहां आया था। बच्चों सहित केवल मेरा परिवार ही यहां आया था। मेरे पिता भी यहां आए थे, लेकिन कुछ समय बाद उनकी मृत्यु हो गई। वह इस तरह से संतुष्ट थे। उन्होंने महसूस किया कि मृत्यु के समय वह कम से कम यहां थे।' उन्होंने कहा, 'पाकिस्तान में, मैं हैदराबाद, सिंध में रह रहा था। जब हम यहां आए थे, तो हमें उम्मीद थी कि हमें नागरिकता मिल जाएगी। कल एक शानदार दिन था। हमें उम्मीद है कि विधेयक राज्यसभा में भी पारित हो जाएगा।'

    17:04 PM

    नागरिकता संशोधन विधेयक के लोकसभा में पारित होने के एक दिन बाद, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मंगलवार को कहा कि शिवसेना प्रस्तावित कानून का समर्थन नहीं करेगी जब तक कि राज्यसभा में पार्टी के सवालों का जवाब नहीं दिया जाता। पार्टी ने सोमवार को लोकसभा में विधेयक का समर्थन किया था। ठाकरे का बयान शिवसेना सांसद अरविंद सावंत के इस बयान के कुछ घंटों बाद आया है जिसमें उन्‍होंने कहा था कि राज्यसभा में भी विधेयक का समर्थन जारी रहेगा, क्योंकि यह 'राष्ट्रीय हित' है।

    16:21 PM

    Assam: Protest continues in Dibrugarh against #CitizenshipAmendmentBill. pic.twitter.com/hQAXQnY801

    — ANI (@ANI) December 10, 2019

    14:00 PM

    ऑल असम यूनियन के सदस्य डिब्रूगढ़ की सड़कों पर बिल के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.