बनारस में ढाई लाख पौधे हो गये गुम

2019-07-06T06:00:44Z

बनारस के लोगों की की उदासीनता और प्रशासन की लापरवाही से नहीं दिख रही हरियाली

-धरातल पर दिखते हैं सिर्फ 8 फीसद ही पौधे

vinod.sharma@inext.co.in

VARANASI

हरियाली के प्रति बनारस के लोगों की उदासीनता और प्रशासन की लापरवाही के कारण काशी का आनंद कानन कंक्रीट के जंगल में तब्दील हो रहा है। पिछले दो साल में वन विभाग की ओर से बनारस में ढाई लाख से अधिक पौधे लगाये हैं। इस पर 78 लाख रुपये खर्च भी हुए, लेकिन रख-रखाव के अभाव में इनमें से 90 प्रतिशत से अधिक पौधे बच नहीं सके। मात्र 7 से 8 फीसद ही पौधे नजर आते हैं।

विभाग का दावा बड़ा

वन विभाग के अधिकारियों का कहना है कि वित्तीय वर्ष 2017-18 में 1 लाख 07 हजार पौधे लगाने का लक्ष्य मिला था, जबकि 118231 पौधे लगाये गये थे। दावा है कि इनमें से 88 प्रतिशत पौधे जीवित हैं। इसी तरह वर्ष 2018-19 में 148196 पौधे लगाये गये, जबकि लक्ष्य 232427 पौधों का मिला था। इनमें भी 92 फीसद पौधे मौजूद हैं।

हरियाली के लिए अलॉट बजट

-2017-18 में पौधरोपण पर 43.53 लाख रुपये खर्च

-2018-19 में पौधरोपण के लिए 34.74 लाख का बजट मिला था

हरियाली के लिए अलॉट पौधे

-2017-18 में 118231 लगे पौधे, लक्ष्य था 1 लाख 07 हजार

-2018-19 में 148196 पौधे लगाये गये। लक्ष्य 232427 पौधे के मिले थे

ये लगाए जाते हैं पौधे

सड़क किनारे : छित्तवन, अशोक, कदम, कचनार, जामुन

डिवाइडर : गुलमोहर, आंवला, देशी अशोक अमृताश आदि

पार्क : नीम, अशोक, पीपल, बरगद, ताड़ आदि।

साढ़े तीन लाख पौधे लगाएगा वन विभाग

वर्ष 2019-20 में वन विभाग द्वारा लगभग तीन लाख 41 हजार 750 पौधे लगाने की योजना है। वन विभाग के अधिकारियों का कहना है कि वाराणसी जिले में वन विभाग के साथ 26 विभाग मिलकर लगभग 24 लाख 63 हजार 953 पौधरोपण की योजना है। इसके पूर्व लगभग 27 लाख पौधरोपण करना था, लेकिन किसी कारणवश शासन ने पौधरोपण की संख्या घटा दी है।

टारगेट के लिए माइक्रो प्लान तैयार

डीएफओ एनपी शाक्य ने बताया कि वाराणसी में 2756453 पौधे लगाने का लक्ष्य है, जिसे पूरा करने के लिए माइक्रो प्लान बनाया गया है। विभागों के पास जगह नहीं है, इसलिए जनपद की 760 ग्राम सभाओं में यह पौधे लगाये जाने की योजना है। माइक्रो प्लान के तहत कृषि भवन में करीब 1 लाख 86 हजार पंजीकृत किसानों को 10-10 पौधे दिए जाएंगे, जो अपने घर या खेत में पौधरोपण करेंगे। इस कार्य में ग्राम प्रधानों और वहां की समितियों की मदद ली जाएगी। इसके अलावा घरों में लगाने के लिए छात्र-छात्राओं को पौधे दिए जाएंगे।

इन विभागों को मिला इतना लक्ष्य

डिपार्टमेंट टारगेट 15 अगस्त तक

वन विभाग 634250 317100

ग्राम्य विकास 1292000 646000

राजस्व 129200 64600

पंचायती राज 129200 64600

आवास विकास 6680 3300

औद्योगिक विकास 4600 2200

नगर विकास 156644 78300

लोक निर्माण विभाग 26714 13400

सिंचाई विभाग 24800 12400

रेशम विभाग 3308 1700

कृषि विभाग 41420 20700

पशुपालन विभाग 5400 2700

सहकारिता विभाग 5200 2600

उद्योग विभाग 8014 4000

विद्युत विभाग 4320 2200

माध्यमिक शिक्षा 51680 25800

बेसिक शिक्षा 51680 25800

प्राविधिक शिक्षा 10624 5300

उच्च शिक्षा 10624 5300

श्रम विभाग 2678 1300

स्वास्थ्य विभाग 9316 4700

परिवहन विभाग 2680 1300

रेलवे विभाग 5541 2800

रक्षा विभाग 4008 2000

उद्यान विभाग 129192 64600

पुलिस विभाग 6680 2640


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.