सीएम योगी ने क्राइम कंट्रोल के दिए निर्देश

2018-12-23T06:00:07Z

वीडियो कांफ्रेसिंग में मुख्यमंत्री ने कसे अफसरों के पेंच

क्रिसमस-डे और नववर्ष के आयोजनों पर सतर्कता के निर्देश

Meerut। लूट, हत्या, डकैती जैसे अपराध का राजफाश नहीं, बल्कि इन पर पूरी तरह अंकुश चाहिए। पुलिस किसी घटना के खुलासे पर अपनी पीठ न ठोंके। शनिवार शाम पुलिस - प्रशासनिक अधिकारियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लॉ एंड आर्डर पर जमकर खरी-खरी कही। उन्होंने वेस्ट यूपी में महिलाओं के प्रति अपराध और हत्या की बढ़ रही वारदातों पर अंकुश लगाने के निर्देश दिए। सीएम ने मेरठ के शोभापुर में हुए मर्डर पर अधिकारियों से रिपोर्ट तलब की।

जुटे रहे अधिकारी

कलक्ट्रेट स्थित एनआईसी में शाम साढ़े 7:30 बजे सीएम ने वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिये देर रात्रि 10 बजे तक प्रदेशभर के पुलिस-प्रशासनिक अधिकारियों के साथ क्राइम मीटिंग की। मेरठ में कमिश्नर अनिता सी। मेश्राम, डीएम अनिल ढींगरा, एसएसपी अखिलेश कुमार, एसपी सिटी रणविजय सिंह, एसपी देहात राजेश कुमार, एएसपी क्राइम सतपाल आंतिल मौजूद रहे। मुख्यमंत्री ने मेरठ के शोभापुर में हुए हत्याकांड की स्टेटस रिपोर्ट तलब की तो वहीं प्रदेशभर में हत्या की बढ़ती वारदातों पर चिंता जताई। महिला अपराधों प्रति सजग सीएम ने पुलिस अफसरों को सख्त लहजे में समझाया कि आगरा जैसी घटनाओं की पुनर्रावृत्ति न हो। पुलिस जीरो टालरेंस पर वर्क करे।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.