सीएम का 'निशाना'

2018-11-17T06:00:58Z

-कानपुर पहुंचे सीएम योगी आदित्यनाथ अचानक पहुंच गए नौबस्ता गल्लामंडी, नाकाम अधिकारी रहे टारगेट पर

-डिफेंस एक्सपो में शामिल होने से पहले औचक निरीक्षण पर निकले सीएम, खराब सड़कों, गंदगी देखकर भड़के

-एनएचआई के प्रोजेक्ट डायरेक्टर से जताई नाराजगी, सही से काम नहीं करने पर कार्रवाई की दी चेतावनी

KANPUR@inext.co.in

KANPUR: फ्राईडे को सीएम योगी आदित्यनाथ कानपुर पहुंचे तो थे डिफेंस एक्सपो में शामिल होने के लिए लेकिन उससे पहले ही वो निकल पड़े शहर के कई इलाकों के औचक निरीक्षण पर। और उनके निशाने पर रहे नाकाम और लापरवाह अधिकारी। सीएम को जहां भी कमियां मिलीं उन्होंने जिम्मेदारअधिकारियों पर जमकर फायरिंग की। सीएसए सीएसए हेलिपैड पर उतरने के बाद सीएम डिफेंस एक्सपो में न जाकर सीधे साउथ सिटी नौबस्ता गल्ला मंडी पहुंचे। जहां उन्होंने धान खरीद की हकीकत सीधे किसानों से संवाद कर जानी। बिचौलियों के बारे में भी पूछा। इसके बाद जाजमऊ गंगापुल पहुंचकर गंगा के दोनों पुलों का इंस्पेक्शन किया। इस दौरान शहर के एंट्रेंस पर भारी गंदगी और अव्यवस्थाओं को देखकर एनएचएआई अधिकारी को जमकर डांट लगाई और 1 महीने में सुंदरीकरण के निर्देश दिए। यहां से निकलकर सीएम डिफेंस एक्सपो में पहुंचकर प्रदर्शनी का अवलोकन किया और कार्यक्रम की अध्यक्षता की।

खुलेंगे रोजगार के दरवाजे

यूपी में रोजगार के अवसर युवाओं को मिले, इसके लिए सीएम ने घोषणा करते हुए कहा कि प्रदेश में 2.5 लाख नौकरी अगले 5 साल में दी जाएंगी। दिसंबर तक यूपी में 1 लाख करोड़ रुपए का निवेश इन्वेस्टर द्वारा कर दिया जाएगा। उद्योगों को सुरक्षा और माहौल देने के लिए 21 पॉलिसी यूपी में लागू की जा चुकी हैं। डिफेंस कॉरिडोर पर उन्होंने कहा कि दिसंबर तक भूमि अधिग्रहण का कार्य पूरा कर लिया जाए। जनवरी के पहले सप्ताह में पीएम नरेंद्र मोदी से डिफेंस कॉरिडोर का शिलान्यास कराया जाएगा।

------------

अब फाइलें टेबल पर नहीं रहती

पिछली सरकारों पर तंज कसते हुए सीएम ने कहा कि प्रदेश में उद्योगों को स्वस्थ माहौल देने के लिए निवेश मित्र की शुरुआत की। पहले निवेशक यूपी आता था और उसकी फाइल अधिकारियों की टेबल पर ही रखी रह जाती थी, चढ़ावा चढ़ाने पर फाइल बढ़ती थी। लेकिन अब ऑनलाइन फाइल चलती है और समयबद्ध तरीके से निवेशक के सभी कार्य पूरे हो जाते हैं। कार्यक्रम के दौरान औद्योगिक मंत्री सतीश महाना, मुख्य सचिव अनूप चंद्र पांडेय सहित सेना के अधिकारी भी मौजूद रहे।

----------

फैक्ट फाइल

------------

2.5 लाख नौकरी अगले 5 साल में दी जाएंगी यूपी

62 हजार करोड़ रुपए के कार्य धरातल पर उतारे गए

1 लाख करोड़ का निवेश दिसंबर तक यूपी में होगा

365 दिन से भी कम वक्त में इन्वेस्टर समिट का ऑर्गनाइज्ड

----------------

सीएम ने की घोषणा

-डिफेंस कॉरिडोर में सबसे सस्ती जमीनें उद्यमियों को दी जाएंगी।

-डीआरडीओ व ऑर्डिनेंस को लघु उद्योगों पर ध्यान देने की जरूरत।

-डिफेंस एक्सपो से मेक इन इंडिया के सपने को साकार किया जा रहा है।

-डिफेंस प्रोडक्ट्स में सप्लाई के लिए निवेश को बढ़ावा दिया जाएगा।

-देश में अब उत्तर प्रदेश बनेगा डिफेंस प्रोडक्शन का सबसे बड़ा हब

-विदेशों से रक्षा उत्पादों की सप्लाई में कमी लाई जाएगी, यूपी बढ़ेगा


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.