ओवरटेक कर रोक दी गाड़ी 18 लाख के सिक्के ले भागे

2019-07-17T06:00:15Z

रांची ले जा रहे थे पैसे, कर्मचारियों को बंधक बनाकर खेत में फेंका

बिना सुरक्षा गार्ड और कैश वैन के ले जा रहे थे 15 क्विंटल भारी सिक्का

PATNA: राजधानी में आए दिन आपराधिक घटनाओं से पुलिस की छवि लगातार बिगड़ती जा रही है। नया मामला नौबतपुर थाना क्षेत्र का है जहां पर मंगलवार की रात करीब 2.30 बजे गवाय मोड़ के पास हथियार बंद लुटेरों ने एक निजी कंपनी के कर्मचारियों को बंधक बनाकर 18 ला 41 हजार रुपए की सिक्के लूट लिए। कर्मचारी रात में निजी वाहन से सिक्का लेकर रांची जा रहे थे। हैरानी की बात ये है बेाौफ बदमाश रात में लूट की घटना को अंजाम दे रहे थे और रात्री गश्त का दावा करने वाली नौबतपुर पुलिस को इसकी जानकारी तक नहीं हुई। मामले में पुलिस ने अज्ञात के ािलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस आरोपियों की तलाश में आस-पास के सीसीटीवी फुटेज ांगाल रही है।

नूरा के पास गाड़ी से फेंका

बदमाशों ने गाड़ी में बैठे रिस्क मैनेजेर और ड्राइवर व उसके सहयोगी को बंधक बना लिया और उन्हें उनकी ही गाड़ी में बैठाकर लेकर जाने लगे। बदमाश जब मसौढ़ी थाना क्षेत्र के नूरा के पास पहुंचे तो वहां पर सड़क किनारे दोनों को धक्का देकर गाड़ी से बाहर फेंक दिया। किसी तरह घटना की सूचना नौबतपुर थाना को मिली तो पुलिस हरकत में आयी।

1,2,5 और 10 के थे सिक्के

मंगलवार को कंपनी के नाम से जमा 18 लाख 41 हजार का सिक्का (1,2,5 एवं 10 रुपया का) जिसका वजन करीब 15 क्विंटल था, बोरा में लेकर उसे जमा कराने भाड़े के पिकअप वैन (बीआर 01 पीएम-8578) से पटना से रांची रीजनल ऑफिस जा रहे थे। पिकअप वैन का चालक सुधीर और खलासी राजू पासवान पिता धर्मनाथ पासवान रुकनपुरा को साथ लेकर चला। नौबतपुर के रास्ते होकर वे लोग जा रहे थे।

पहले से खड़ी थी बोलेरो

रस्क मैनेजर ने बताया कि रात करीब 2.30 बजे गाड़ी गिवाय मोड़ के पास पहुंची। वहां पहले से एक बोलेरो वाहन खड़ी थी जिसमें पांच लोग सवार थे। एक और उजले रंग की गाड़ी ने पीछे से ओवरटेक किया। उसमें भी तीन व्यक्ति सवार थे। सभी लोग गाड़ी से उतरे और वैन को रुकवा दिया। वैन के रुकते ही वने लोग चालक के साथ मारपीट करने लगे। उसके बाद हम तीनों को बंधक बनाकर गाड़ी में बिठा लिया और हाथ पैर बांधकर नूरा के पास खेत में फेंक दिया। उसके बाद सभी बदमाश सिक्का लदा पिकअप वैन लेकर मसौढ़ी की ओर भाग निकले।

- ग्रामीणों के फोन से पुलिस को दी सूचना

कर्मचारियों ने बताया कि हमलोग किसी तरह रस्सी से बंधे हाथ पैर को सरका कर पास स्थित नूरा गांव तक पहुंचे। वहां ग्रामीणों को जगाया और घटना की जानकारी देकर पुलिस से मदद के लिए मोबाइल मांगी। घटना की जानकारी पाकर सिटी एसपी, फुलवारी शरीफ डीएसपी नौबतपुर थाना पहुंचे और बारी-बारी से कंपनी के कर्मी और चालक से पूछताछ किया। इस संबंध में डीएसपी संजय कुमार पांडेय ने बताया कि कंपनी द्वारा भी कहीं न कहीं लापरवाही बरती गई है। पैसे की बरामदगी के लिए छापेमारी की जा रही है।

- 11 साल से काम कर रहे हैं कर्मचारी

पीडि़त महेश प्रसाद पिता शभूनाथ राय घर न्यू ताराचक खरंजा रोड सगुना निवासी ने पुलिस के समक्ष दिये फर्दबयान में बताया कि वह पिछले ग्यारह वषरें से रेडियंट कैश मैनेजमेंट सर्विस प्राइवेट लिमिटेड कंपनी में रिस्क मैनेजर के पद पर कार्यरत है। ग्राहकों, व्यवसायियों द्वारा कंपनी में जमा पैसा को कंपनी में सुरक्षित जमा कराने का काम करता है।

हाल ही में नौबतपुर में हुई घटनाएं

1 जुलाई को निसरपुरा लॉक पाल होटल पर गोलीकांड

2 जुलाई को चिरौरा मुय सड़क पर महिला शिक्षिका से चेन की छिनतई।

5 जुलाई को निसरपुरा लॉक स्थित पूजा हार्डवेयर नामक दुकान पर दिनदहाड़े गोलीकांड।

कंपनी के मैनेजर 18 लाख रुपए बिना सुरक्षा के लेकर जा रहे थे। उनके पास कोई गार्ड भी नहीं था। निजी वाहन में लाखों रुपए लेकर जा रहे थे। मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। मामले में पड़ताल की जा रही है।

अभिनव कुमार, एसपी वेस्ट


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.