कांग्रेसजनों ने गुजरात से लौटने वालों का सुना दर्द

2018-10-11T06:00:58Z

VARANASI

हिंसा से घबराए यूपी और बिहार के लोग कैंट स्टेशन पर बुधवार को उधना एक्सप्रेस से बनारस पहुंचे। उसने मिलने कांग्रेसजन पहुंचे थे। जिनके सामने लोगों ने रो-रो कर अपना दुखड़ा बयां किया। छोटे-छोटे बच्चों व परिवार के साथ अपना रोजी-रोजगार, घर-द्वार छोड़ कर वहां से जान बचाकर बनारस आए लोगों के चेहरे पर खौफ साफ दिख रहा था। लोगों ने बताया कि उत्तर भारतियों पर न केवल हमले हो रहे हैं, बल्कि उन्हें धमकियां मिल रही हैं। कैंट स्टेशन पर वरिष्ठ कांग्रेस नेता व पूर्व मंत्री अजय राय के नेतृत्व में नेताओं ने गुजरात से आए लोगों से मुलाकात की। उन्होंने कहा कि गुजरात की आर्थिक मंदी से उपजे क्षेत्रवाद का प्रहार उत्तर भारत के लोगों को झेलना पड़ रहा है। यह राष्ट्रीय एकता के लिए गहरी चिंता का विषय है। गुजरात से आए लोगों से मिलने वालों में शैलेन्द्र सिंह, हरीश मिश्रा, संजय सिंह डॉक्टर, रंजीत सेठ आदि शामिल थे।

मोदी मुक्त काशी को लिया संकल्प

महानगर युवा कांग्रेस ने दशाश्वमेध घाट पर बुधवार को आचमन संकल्प सत्याग्रह किया। उत्तर भारतीयों पर हमले के विरोध में पीएम नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र बनारस में युवक कांग्रेस ने निशाना साधा। उन्हें काशी से बाहर करने के लिए मोदी काशी छोड़ो नारे के साथ दशाश्वमेध घाट पहुंचे। प्रदेश महासचिव राघवेंद्र चौबे के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने गंगा में खडे़ होकर संकल्प लिया। सत्याग्रह में चंचल शर्मा, शमशाद अहमद, ओमशंकर शुक्ला, किशन यादव, रोहित दुबे, परवेज खान, विनीत चौबे, तन्मय दुबे, राजीव आर्य, प्रमोद वर्मा, छांगुर नेता, मयंक चौबे आदि मौजूद रहे।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.