कांग्रेस ने मोदी सरकार को घेरा कहा, 1 करोड़ से अधिक पेड़ कटवाकर देश के भविष्य से खिलवाड़ किया

Updated Date: Sat, 27 Jul 2019 01:22 PM (IST)

कांग्रेस ने मोदी सरकार को घेरते हुए उस पर 1 करोड़ से अधिक पेड़ा कटवा कर देश के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने का आरोप लगाया है। कांग्रेस ने मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला इस संबंध में ट्वीट भी किया है।

नई दिल्ली (पीटीआई)। कांग्रेस ने शनिवार को विकास परियोजनाओं के लिए 1 करोड़ से अधिक पेड़ों को काटने की अनुमति देने वाली मोदी  सरकार पर हमला किया। कांग्रेस का कहना है कि भाजपा हमारे भविष्य को नष्ट कर रही है।कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीटर पर कहा है कि पेड़ जीवन हैं। पेड़ ऑक्सीजन है।पेड़ कार्बन डाइऑक्साइड को साेखते हैं। पेड़ पर्यावरण की रक्षा करते हैं।

पेड़ जीवन है।
पेड़ ऑक्सीजन देते हैं।
पेड़ कार्बन डाइऑक्साइड सोखते है।
पेड़ पर्यावरण के रक्षक हैं।
मोदी सरकार ने 5 साल में 1,09,75,844 पेड़ काट डाले।(संसदीय जबाब ⬇️)
क्या मोदी सरकार भविष्य से खिलवाड़ कर रही है? pic.twitter.com/OLWpnfsccy

— Randeep Singh Surjewala (@rssurjewala) July 27, 2019


पर्यावरण मंत्रालय की ओर से दिए गए जवाब भी ट्वीट किया

जबकि मोदी सरकार ने पिछले 5 वर्षों में 1,09,75,844 पेड़ों की कटाई की है। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने साथ ही एक सवाल पूछा क्या भाजपा हमारे भविष्य को नष्ट कर रही है?  इतना ही इस दाैरान उन्होंने लोकसभा में पर्यावरण मंत्रालय की ओर से दिए गए जवाब को भी साथ में पोस्ट किया कि विकास कार्यों के लिए पिछले पांच वर्षों में 1 करोड़ से अधिक पेड़ों को काटने की अनुमति दी गई।
एंवायरमेंट बचाने को लगेंगे 48 लाख पौधे
जंगल की आग में नष्ट हुए पेड़ों का डेटा मंत्रालय के पास नहीं

बता दें कि कल शुक्रवार को लोकसभा में एक सवाल के जवाब में पर्यावरण राज्य मंत्री बाबुल सुप्रियो ने कहा कि मंत्रालय ने 2014 और 2019 के बीच विकास उद्देश्यों के लिए 1.09 करोड़ पेड़ों को काटने की अनुमति दी। इसमें 2018-19 में सबसे अधिक पेड़ (26.91 लाख) काटे गए। इसके साथ ही सुप्रियो ने कहा था कि जंगल की आग में नष्ट हुए पेड़ों का डेटा उनके मंत्रालय द्वारा नहीं रखा गया है।
सीएम योगी की पहली पसंद बना 'सहजन', प्रदेश में 2 करोड़ से अधिक पाैधे लगाने का लक्ष्य

 

Posted By: Shweta Mishra
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.