Coronavirus : कमल हासन ने व्यवस्था पर उठाए सवाल, कहा हेल्थ से ज्यादा डिफेंस बजट क्यों

Coronavirus : कमल हासन ने देश की स्वास्थ्य व्यवस्था पर चिंता जताते हुए सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने कहा कि भार को सुरक्षा से ज्यादा हेल्थ बजट पर ध्यान देना चाहिए था ताकि महामारी की स्थिति में आसानी से निपटा जा सके।

Updated Date: Mon, 20 Apr 2020 11:53 AM (IST)

चेन्नई (तमिल नाडु)। Coronavirus : एक्टर से पाॅलिटिशियन बने कमल हासन ने सोमवार को कोविड 19 के बाद नए भारत को इमेजिन किया। इसके साथ ही स्वास्थ्य के लिए महामारी से जंग लड़ने में बजट सहित अन्य कई उपाय सुझाए। हासन ने ट्वीट कर लिखा, 'इन दिनों लोग महामारी को लेकर अपनी- अपनी चिंता जता रहे हैं। इस महामारी के समय में जिस तरह से केंद्र व राज्य सरकारें अपनी साझेदारी निभा रही हैं वो वाकई काबिले तारीफ है। मुझे पूरी उम्मीद है कि यह एक मानक बन जाएगा और जल संकट, प्रदूषण, महिलाओं की सुरक्षा, सांप्रदायिक हिंसा व स्वास्थ्य देखभाल आदि जैसी बारहमासी लड़ाइयों को दूर करने में मदद करेगा।'

Re imagining India for post-Covid World pic.twitter.com/3dF7Z21a41

— Kamal Haasan (@ikamalhaasan) April 20, 2020सुरक्षा बजट हेल्थ बजट से ज्यादा क्यों

कमल हासन ने पोस्ट में आगे लिखा, '50 साल हो चुके हैं जब भारत ने एक फुल स्केल वाॅर लड़ी थी पर लचर स्वास्थ्य व्यवस्था की वजह से हर दिन जंग लड़ रहा है जिसमें सलाना देश में करीब 1.6 मिलियन लोगों की मौत होती है। वहीं साल दर साल हमारा सुरक्षा बजट बढ़ता गया पर हेल्थ केयर बजट कुछ खास नहीं रहा। हमेशा से सरकार ने सुरक्षा और सेना को ज्यादा तरजीह दी है बजाय हेल्थ के। भारत को एक महमारी बजट पहले से ही बनाना चाहिए था। हमारी प्रियोरिटी हेल्थ होनी चाहिए और इसका बजट बढ़ना चाहिए।'

गरीबी भारत के लिए हमेशा से चैलेंजिंग रही है

हासन ने आगे कहा, 'कोरोना वायरस ने हमे दिखा दिया कि गरीबी भारत के लिए हमेशा चैलेंजिंग रहा है और रहेगा। इस महामारी की स्थिति में अमीर तो मैनेज कर सकते हैं पर गरीबों पास मरने के अलावा कोई ऑप्शन नहीं है। हमारे लीडर्स को एकजुट हो कर सोचना होगा कि देश को चलाने के साथ- साथ गरीबों के लिए भी आगे आएं। दशकों से भारत को सुपरपाॅवर के रूप में देखने का सपना साकार करने के लिए यही सही समय है।'

Posted By: Vandana Sharma
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.