Coronavirus के चलते पंजाब में आधी रात से पब्लिक ट्रांसपोर्ट बंद, कश्मीर में भी आवागमन प्रभावित

कोरोना वायरस को देखते हुए पंजाब सरकार ने पब्लिक ट्रांसपोर्ट पर रोक लगाने का फैसला किया है। शुक्रवार की आधी रात से सड़कों पर इस तरह के वाहन चलना बंद हो जाएंगे। वहीं एक महिला में संक्रमण पाए जाने के बाद श्रीनगर शहर में भी पब्लिक ट्रांसपोर्ट पर रोक लगाने का फैसला किया है।

Updated Date: Thu, 19 Mar 2020 05:09 PM (IST)

चंडीगढ़/श्रीनगर (पीटीआई)कोरोना वायरस के प्रसार को देखते हुए पंजाब सरकार ने गुरुवार को घोषणा की कि शुक्रवार आधी रात से पब्लिक ट्रांसपोर्ट सेवाओं को बंद कर दिया जाएगा। इसके अलावा सरकार ने पूरे राज्य में होम डिलीवरी सेवाओं और टेकवे को छोड़कर मैरिज पैलेस, होटल, रेस्तरां, भोज और भोजन स्थान बंद करने का भी फैसला किया है। स्थानीय निकाय मंत्री ब्रह्म मोहिंद्रा ने कहा, 'पब्लिक परिवहन बसों, टेम्पो और ऑटो रिक्शा को शुक्रवार की आधी रात से निलंबित कर दिया जाएगा।' ये निर्णय पंजाब सरकार द्वारा निर्मित सात सदस्यीय समूह मंत्रियों के समूह (जीओएम) की एक बैठक में लिए गए हैं, जिसे कोरोना वायरस से उत्पन्न हुई स्थिति की समीक्षा करने के लिए बनाया गया था।

पंजाब में परीक्षाएं भी स्थगित

जीओएम ने सार्वजनिक सभा को 20 तक सीमित रखने का भी निर्णय लिया है। इससे पहले यह 50 लोगों तक ही सीमित था। मंत्री ने आगे कहा कि सरकारी कार्यालयों में काम करने वाले लोगों को भी प्रतिबंधित किया जाएगा। उन्होंने आगे कहा कि पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड की कक्षा 10 और 12 की परीक्षाएं 31 मार्च तक के लिए स्थगित कर दी गई हैं। मंत्री ने कहा कि सभी आयुक्तों, डिप्टी कमिश्नरों, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को निर्देशित किया गया है कि वे अपने स्टेशनों को न छोड़ें। उन्होंने कहा कि सरकार किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार है।

श्रीनगर में सभी चीजें बंद

वहीं, एक महिला में कोरोना वायरस पाए जाने के एक दिन बाद, कश्मीर घाटी गुरुवार को पूरी तरह से बंदी की ओर बढ़ रहा है। श्रीनगर शहर के कई हिस्सों में लोगों के आवागमन और सभी सार्वजनिक परिवहन पर बुधवार से प्रतिबंध लगा दिया गया है। अधिकारियों ने कहा कि खनियार इलाके में 67 वर्षीय कोरोना वायरस के मरीज के घर के 300 मीटर के दायरे के इलाके को बंद कर दिया गया है और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने घर-घर जाकर जांच की है कि उसके किसी पड़ोसी में बीमारी के लक्षण तो नहीं। उन्होंने कहा कि पुराने शहर में सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि लोगों की आवाजाही पर प्रतिबंध का आदेश पत्र लागू हो। हालांकि, प्रशासन और स्वास्थ्य अधिकारियों के लिए यह मुश्किल काम है कि वे पिछले कुछ दिनों में मरीज के संपर्क में आए सभी लोगों को ट्रैक करें।

सऊदी अरब से लौटी थी कोरोना पीड़िता

एक स्वास्थ्य अधिकारी ने नाम न बताने की शर्त पर बताया, 'पीड़िता उमरा (मामूली हज यात्रा) करने के बाद वह 16 मार्च को सऊदी अरब से लौटी। उससे रिश्तेदार समेत कई लोग मिले, अब उन्हें ट्रैक करना बहुत मुश्किल होगा।' उपायुक्त श्रीनगर शाहिद इकबाल चौधरी ने सभी लोगों से आग्रह किया कि जो सोमवार को सऊदी अरब से लौटने के बाद कोरोना वायरस रोगी के संपर्क में आए हैं, वह निकटतम स्वास्थ्य सुविधा पर रिपोर्ट कर सकते हैं या नियंत्रण कक्ष से संपर्क कर सकते हैं।

Posted By: Mukul Kumar
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.