Coronavirus पर अफवाह फैलाने वालों पर पैनी नजर, पंजाब पुलिस ने 'फेक दी खैर नहीं' कैंपेन तो दिल्ली पुलिस ने लाॅन्च किया वैरिफिकेशन मॉड्यूल

2020-04-07T11:38:35Z

Coronavirus कोरोना वायरस महामारी को लेकर देश के कई राज्यों में फेक न्यूज खूब चल रही हैं। ऐसे में इन पर नकेल कसने के लिए पंजाब पुलिस ने जहां 'फेक दी खैर नहीं' कैंपेन शुरू किया है। वहीं दिल्ली पुलिस ने भी अपनी वेबसाइट पर फेक न्यूज वैरिफिकेशन मॉड्यूल लॉन्च किया है।

चंडीगढ़/नई दिल्ली(एएनआई/पीटीआई)। Coronavirus कोरोना वायरस पर फर्जी खबरें फैलाने वाले शरारती तत्वों पर नजर रखने के लिए पंजाब पुलिस ने एक सोशल मीडिया कैंपेन 'फेक दी खैर नहीं' शुरू किया है। इस पहल का उद्देश्य अफवाह फैलाने वालों पर नकेल कसना और लोगों को भारतीय दंड संहिता के कानूनों और धाराओं के बारे में शिक्षित करना है। इसके लिए पंजाब पुलिस फेसबुक, ट्विटर, टिक टोक, शेयरचैट जैसे प्लेटफार्मों का सबसे अच्छा उपयोग कर रही है ताकि लोगों को सूचित किया जा सके कि फेक न्यूज पेडलर्स एक महीने को सात साल तक जेल के अलावा उन पर जुर्माना भी लगाया जाता है यदि उनके द्वारा साझा की गई कोई भी गलत जानकारी से सार्वजनिक विकार, किसी की भी जिंदगी, स्वास्थ्य या संपत्ति को नुकसान या फिर देश में या दंगे की स्थिति पैदा करती है।

उल्लंघनकर्ताओं के लिए 21 खुली जेल बनाई

फेक दी खैर नहीं अभियान भी लोगों को पार्टिसिपेट करने और किसी भी जानकारी के तथ्य की जांच करने और पुलिस की सूचित करने की परमीशन देता है। इस संबंध में पंजाब पुलिस की अोर से एक बयान में कहा गया है, पुलिस का इरादा सार्वजनिक रूप से उस दहशत पर अंकुश लगाना है, जो कोरोना डेमिक पर सनसनीखेज और फेक न्यूज शेयर करने वाले लोगों द्वारा फैलाया जा रहा है। वीडियो, ग्राफिक्स और एनिमेशन के माध्यम से लोगों के साथ जानकारी शेयर की जा रही है। राज्य पुलिस ने आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत उल्लंघनकर्ताओं को बुक करने के लिए 21 खुली जेल बनाई हैं।

फेक न्यूज वैरिफिकेशन मॉड्यूल लॉन्च किया

वहीं देश की राजधानी में दिल्ली पुलिस भी काेरोना वायरस और लाॅकडाउन को लेकर फेक न्यूज को लेकर परेशान हो रही है। अब इससे निपटने के लिए दिल्ली पुलिस ने एक बड़ा कदम उठाया है। अधिकारियों ने कहा कि कोरोना वायरस के प्रकोप के बीच अफवाहों का मुकाबला करने के लिए दिल्ली पुलिस ने सोमवार को अपनी वेबसाइट वेबसाइट www.delhipolice.nic.inपर फेक न्यूज वैरिफिकेशन मॉड्यूल लॉन्च किया है। पुलिस ने कहा कि इस पर नागरिक किसी भी फेक न्यूज की सूचना दे सकते हैं और वेबसाइट पर उसके वैरिफिकेशन और क्लैरिफिकेशन के लिए कंटेंटअपलोड कर सकते हैं।

Posted By: Shweta Mishra

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.