आर्मी अफसर पर लगे आरोप पाए गए सही

2019-02-07T06:00:49Z

-महिला मेजर को बंधक बनाने वाले अफसर पर आरोप पत्र दाखिल

-कर्नलगंज थाने में महिला अफसर ने दर्ज कराया था मुकदमा

ALLAHABAD: एनसीसी में कार्यरत महिला मेजर को एक आर्मी ऑफिसर द्वारा नायडू एन्क्लेव में बंधक बनाने के प्रकरण में आर्मी ऑफिसर पर लगे सभी आरोप सच साबित हो गए है। मामले की जांच कर रहे विवेचक ने सारे साक्ष्यों को कोर्ट में चार्जशीट के माध्यम से दाखिल कर दी। बता दें कि इस प्रकरण में आर्मी ऑफिसर ने एफआईआर दर्ज कराते हुए आरोप लगाया कि वह असलहाधारियों संग उनका पीछा किया जा रहा था। जांच में आरोप निराधार पाए गए और पुलिस ने एफआर लगा दी थी।

लौटाने गई थी चाबी

कर्नलगंज थाना क्षेत्र अतंर्गत चैथम लाइन में एनसीसी का मुख्यालय हैं। यहां तैनात मेजर फरहा दीबा कुछ माह पहले कमिश्नर आवास के बगल नायडू एन्क्लेव स्थित आर्मी क्वॉर्टर में रहती थीं। महिला अफसर का आरोप था कि उन्हीं के विभाग में तैनात शासकीय अधिकारी देवाशीष गोहा भी र्कायरत थे। आरोप था कि 21 मई को वह दोपहर में वह पुराने फ्लैट की चाबियां वापस देने के लिए नायडू एन्क्लेव गई थीं। तभी देवाशीष गुहा ने बंधक बना लिया। उन्होंने आर्मी ऑफिसर देवाशीष गुहा के खिलाफ कर्नलगंज थाने में एफआईआर दर्ज कराई। जिसकी जांच में आरोप सही मिलें। उन्होंने पुलिस को वीडियो फुटेज भी उपलब्ध कराए। उसके बाद एफआईआर के विवेचक ने आरोपी आर्मी ऑफिसर के खिलाफ चार्जशीट दाखिल कर दी। विभागीय लोगों के मुताबिक बताया जा रहा है कि कार्रवाई पूरी भी नहीं हुई थी कि आर्मी ऑफिसर का कोलकाता ट्रांसफर कर दिया गया। जबकि नौ मार्च की घटना के बाद महिला अफसर का ट्रांसफर जगदलपुर छत्तीसगढ़ कर दिया गया था। उन्हें कोर्ट से ट्रांसफर स्टे लेना पड़ा था।

वर्जन

महिला आर्मी अफसर द्वारा लगाए गए आरोप सही पाए जाने और मामले की निष्पक्ष जांच के बाद चार्चशीट कोर्ट में दाखिल कर दी गई है।

भारत सिंह, विवेचना अधिकारी


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.