School Reopening Guidelines: 15 अक्टूबर से फिर से खुलेंगे स्कूल, पैरेंट्स बच्चे भेजने से पहले जरूर पढ़ लें ये नए रूल

अनलॉक 5 गाइडलाइन के तहत केंद्र सरकार की ओर से राज्य सरकारों को 15 अक्‍टूबर से एसओपी का पालन करते हुए स्‍कूलों को फिर से खोलने की छूट दी गई है। इस दाैरान सोमवार को शिक्षा मंत्रलय ने स्कूलों को फिर से खोलने के लिए दिशानिर्देश जारी किए हैं। यहां पढ़ें स्कूलों की गाइडलाइन...

Updated Date: Tue, 06 Oct 2020 11:32 AM (IST)

नई दिल्ली (पीटीआई)। कोरोना महामारी के बीच शिक्षा मंत्रालय ने स्कूलों को फिर से खोलने के लिए सोमवार को दिशानिर्देश जारी किए हैं। इसमें परिसरों की पूरी तरह सफाई और उन्हें संक्रमणमुक्त करना, उपस्थिति की नीतियों में लचीलापन रखना, तीन सप्ताह तक मूल्यांकन नहीं करना शामिल है। इसके अलावा कोविड-19 लॉकडाउन के दौरान घर से पढ़ाई से सुगमता से औपचारिक स्कूल प्रणाली तक बदलाव सुनिश्चित करना शामिल है। इसने राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को अपनी स्थानीय आवश्यकताओं के आधार पर, स्वास्थ्य और सुरक्षा सावधानियों के लिए अपने स्वयं के मानक संचालन प्रक्रियाओं (एसओपी) को तैयार करने के लिए कहा है। साफ-सफाई का ध्यान रखा जाए
शिक्षा मंत्रलय ने 15 अक्टूबर से स्कूलों को क्रमिक तरीके से पुन: खोलने के लिए जारी की गई गाइडलाइन में स्पष्ट रूप से कहा कि स्कूलों को सभी क्षेत्रों, फर्नीचर, उपकरण, स्टेशनरी, पानी के टैंकों, रसोई घरों, कैन्टीन, शौचालयों, प्रयोगशालाओं, पुस्तकालयों की पूरी तरह सफाई करने और उन्हें संक्रमणमुक्त करने की व्यवस्था करनी चाहिए। इसके अलावा प्रब्रंधन को स्कूल के भीतरी परिसर में हवा का प्रवाह सुनिश्चित करना चाहिए। स्कूल बना सकते हैं खुद की एसओपी


स्कूलों को राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों द्वारा जारी दिशानिर्देशों के आधार पर उनके खुद की एसओपी बनाने के लिए प्रोत्साहित किया जा सकता है। सुरक्षा के मद्देनजर सामाजिक दूरी के नियमों का पालन किया जाए। इस संबंध में नोटिस, पोस्टर, अभिभावकों से संवाद, संदेशों को प्रमुखता से प्रसारित किया जाए। इतना ही नहीं मंत्रलय ने सिफारिश की है कि स्कूलों को उपस्थिति और अस्वस्थता अवकाश नीतियों में लचीलापन लाना चाहिए।पैरेंट्स की परमीशन होनी जरूरीगाइडलाइन में यह भी कहा गया है कि छात्र अपने माता-पिता की लिखित सहमति से ही स्कूल आ सकते हैं। छात्र चाहें तो स्कूल की बजाय ऑनलाइन कक्षाओं का विकल्प चुन सकते हैं। स्कूल खुलने के दो से तीन सप्ताह तक कोई मूल्यांकन नहीं होगा और आईसीटी तथा ऑनलाइन प्रशिक्षण को प्रोत्साहित किया जाएगा। देशभर में कोरोना वायरस महामारी के कारण विश्वविद्यालयों और स्कूलों को 16 मार्च को बंद करने का आदेश दिया गया था।

Posted By: Shweta Mishra
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.