लखटकिया बदमाशों की लिस्ट में अब झुन्ना भी

Updated Date: Thu, 05 Sep 2019 06:01 AM (IST)

दिव्यांग दिलीप के हत्यारोपी झुन्ना पंडित की इनामी राशि 50 हजार से बढ़ाकर एक लाख रुपये की गई

बीकेडी व दीपक वर्मा पर पहले से घोषित है एक लाख का इनाम, सभी पुलिस को ढूंढ़े नहीं मिल रहे

जरायम की दुनिया में एक दशक से सक्रिय सोएपुर निवासी श्रीप्रकाश मिश्र उर्फ झुन्ना पंडित भी अब लखटकिया बदमाशों की लिस्ट में शामिल हो गया है। इस पर पहले से 50 हजार रुपये का इनाम घोषित था। दिव्यांग दिलीप पटेल की हत्या में नाम आने के बाद इनाम की राशि बढ़ाकर एक लाख रुपये की गई है। वाराणसी में इंद्रदेव सिंह उर्फ बीकेडी पर पहले से एक लाख का इनाम घोषित है। एमएलसी बृजेश सिंह के चचेरे भाई सतीश सिंह की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या के मामले में इंद्रदेव सिंह बीकेडी फरार है। 2015 में कबीरचौरा अस्पताल में हुए एनकाउंटर में ढेर बदमाश सन्नी सिंह गैंग के शार्प शूटर दीपक वर्मा पर भी पुलिस ने एक लाख रुपये का इनाम घोषित कर रखा है। सन्नी के मारे जाने के बाद कपिलेश्वर गली, कोतवाली निवासी दीपक वर्मा उर्फ गुड्डू ने गैंग की कमान संभाल ली है।

दो लाख के इनामी दो बदमाश

चर्चित विधायक कृष्णानंद राय की हत्या सहित अन्य अपराधिक मामलों में अताउर रहमान उर्फ बाबू उर्फ सिकंदर पर दो लाख रुपये का इनाम घोषित है। महरुपुर मुहम्मदाबाद गाजीपुर निवासी अताउर के खिलाफ भेलूपुर थाना में हत्या का मुकदमा दर्ज है। शहाबुद्दीन पर भी भेलूपुर थाना में हत्या का मुकदमा दर्ज है। उस पर भी दो लाख का इनाम घोषित है। वह भी महरुपुर मुहम्मदाबाद गाजीपुर का रहने वाला है।

वांटेड-1: विश्वास नेपाली

साल 2010, सप्तसागर दवा मंडी में रंगदारी के लिए कारोबारी पर फायरिंग के मामले में विश्वास नेपाली का नाम सुर्खियों में आया था। तब से फरार नेपाली का नाम लूट, हत्या के प्रयास सहित रंगदारी के मामलों में उछलता गया। शुरुआती दौर में नेपाली का नाम मुन्ना बजरंगी से भी जुड़ा। विशेश्वरगंज मंडी में रहते हुए नेपाली कई व्यापारियों को धमकी देकर रंगदारी वसूलता रहा। इधर कुछ सालों से उसका स्थाई नेटवर्क नेपाल बार्डर बताया जा रहा है।

वांटेड-2: सुनील यादव

अगस्त 2013 में चंदौली में पेशी से लौटते समय चौकाघाट पर पुलिस वैन से कूदकर फरार चोलापुर निवासी सुनील यादव का आतंक सूबे के पूर्ववर्ती सरकार में खूब चला। जमीन कब्जा कराने सहित हत्या और अपहरण जैसे संगीन मामलों में सुनील यादव का नाम प्रकाश में आता रहा। हालांकि सुनील को लेकर चर्चा ये भी है कि विरोधियों ने उसकी हत्या कर बॉडी को ईट भट्ठे में जला दिया। 2015 के बाद से सुनील का चेहरा किसी ने नहीं देखा, मगर पुलिस के रिकॉर्ड में 50 हजार का ईनामी है।

वांटेड-3: मनीष सिंह

बाबतपुर रोड स्थित सैम्स के डायरेक्टर आरके सिंह सहित एक्ट्रेस मनीषा कोइराला के सचिव अजीत देवानी की हत्या कर सुर्खियों में आए जंसा निवासी मनीष सिंह भी फरार है। बनारस सहित महाराष्ट्र में बिल्डरों को धमकाने, रंगदारी वसूलने के मामले में मनीष कुख्यात रहा है। साल भर पहले रोहनिया एसओ रहते हुए शिवानंद मिश्रा ने घेराबंदी कर मनीष को दबोचने की प्लानिंग की थी। मगर, आहट मिलते ही मनीष फरार हो गया था। तब से पुलिस को उसकी लोकेशन नहीं मिली।

वांटेड-4: अजीम उर्फ डॉक्टर

28 मई 2012 को शिवपुर बाईपास में मार्बल कारोबारी सुशील सिंह की हत्या कर सनसनी फैलाने वाला चौबेपुर निवासी अजीम उर्फ डॉक्टर भी शातिर बदमाश है। अहरौरा के जंगल में पचास हजार के ईनामिया राजेश चौधरी की हत्या में भी अजीम उर्फ डॉक्टर का नाम सामने आया था।

वांटेड-5

लूट, रंगदारी सहित अन्य आपराधिक घटनाओं को अंजाम देकर पुलिस के लिए सिरदर्द बने सोएपुर निवासी रवि पटेल पर पुलिस ने 50 हजार का इनाम दिव्यांग दिलीप पटेल की हत्या के बाद घोषित किया है। इसे वरूणापार में वर्चस्व स्थापित करने वाले झुन्ना पंडित गिरोह का सबसे सक्रिय सदस्य माना जाता है। हाल फिलहाल में हुई कई लूट की घटनाओं में रवि का नाम उछला है।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.