सारनाथ में हुई बाहुबलियों की जुटान

2019-10-13T05:45:36Z

-ट्रांसपोर्टर नीतेश सिंह बबलू की तेरहवीं में जुटे कई चर्चित चेहरे

-पुलिस, क्राइम ब्रांच व एसटीएफ की रही शामिल होने वालों पर नजर

ट्रांसपोर्टर नितेश सिंह बबलू की तेहरवीं में आशापुर में पूर्वाचल के बाहुबलियों का जुटान हुआ। शातिर अपराधियों के आने की भी चर्चा रही।

आने वालों पर क्राइम ब्रांच, एसटीएफ की नजर रही। गैंगवार की आशंका को देखते हुए पुलिस एलर्ट रहीं।

बंद रूम में हुई मीटिंग

तेरहवीं में लखनऊ का चर्चित ठेकेदार प्रदीप सिंह भी शामिल हुआ। प्रदीप सिंह का नाम मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद भी उछला था। मुन्ना बजरंगी के घरवालों ने प्रदीप पर आरोप लगाया था। एक बंद कमरे में घंटे भर मीटिंग हुई है, इसमें कई बदमाशों ने बबलू सिंह की हत्या का बदला लेने की बात कही। ऐसे में गैंगवार की आशंका को देखते हुए एसटीएफ और क्राइम ब्रांच अलर्ट हो गई है। 30 सितम्बर को सदर तहसील परिसर में दिनदहाड़े बबलू सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

नहीं चला शूटरों का पता

ट्रांसपोर्टर बबलू सिंह की हत्या को अंजाम देने वाले दो शूटरों की पहचान पुलिस अब तक नहीं कर सकी। यह भी पता नहीं लग सका है कि हत्या किस वजह से हुई। आशापुर के जमीन विवाद में हत्या की वजह बताई जा रही है लेकिन अब तक कोई साक्ष्य नहीं मिला है।

बीकेडी के आने की रही चर्चा

पुलिस सूत्रों के अनुसार तेरहवीं में एक लाख के इनामी इंद्रदेव सिंह उर्फ बीकेडी के भी शामिल होने की चर्चा रही। लेकिन पुष्टि नहीं हो सकी। बीकेडी की बाहुबली एमएलसी से अदावत है। बबलू सिंह ने उसे कई बार अपने यहां शरण दिया था। इसको लेकर ही पूर्वाचल के कई बाहुबली उससे नाखुश थे।

Posted By: Inextlive

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.