छठी बरसी जानें 16 दिसंबर की उस काली रात को याद कर क्या बाेली निर्भया की मां बेटियों को दिया ये संदेश

2018-12-16T12:09:06Z

दिल्ली में 16 दिसंबर 2012 को चलती बस में एक पैरामेडिकल छात्रा निर्भया के साथ सामूहिक दुष्कर्म हुआ था। निर्भया ने 13 दिन माैत से लड़ने के बाद दम तोड़ दिया था। एेसे में आज छठी बरसी पर उसकी मां ने उसे याद कर कहीं ये कुछ खास बातें

कानपुर। देश को झकझोर देने वाले निर्भया कांड को याद कर आज भी लोग सिहर उठते हैं। एेसा लगता है मानों यह कल की घटना हो। 16 दिसंबर, 2012 की रात को करीब 23 वर्षीय पैरामेडिकल छात्रा निर्भया अपने एक दोस्त संग बस में चढ़ी थी। इस दाैरान उसके साथ पांच दरिंदों ने चलती बस में सामूहिक दुष्कर्म किया था। डाॅक्टरों ने खुद इस बात की पुष्टि की थी उसके साथ बेहद हैवानियत वाला सुलूक हुआ था। निर्भया 13 दिन तक माैत से लड़ने के बाद आखिर हार गर्इ थी आैर सिंगापुर में दम तोड़ दिया था।
खुद को कभी भी कमजोर नहीं समझे
निर्भया के साथ हुए इस हादसे को लेकर उसे इंसाफ दिलाने के लिए बड़े स्तर पर धरने-प्रदर्शन हुए। मामला फिलहाल अभी सुप्रीम कोर्ट में विचाराधीन है। वहीं आज निर्भया की मां आशा देवी ने बेटी को याद कर कहा कि दुष्कर्म जैसे अपराध के मामलों में अपराधी आज भी जीवित हैं। यह कानून व्यवस्था की बडी़ विफलता है। हम लड़कियों से कहना चाहते हैं कि वो खुद को कभी भी कमजोर नहीं समझे । वहीं उनके मां-बाप से यह कहना चाहते हैं कि वह कभी भी अपनी लड़िकयों को शिक्षा मुहैया कराने से नहीं हिचके।

निर्भया कांड: दोहराने न पाएं ऐसे केस, मुसीबत में महिलाओं के मददगार हो सकते हैं ये 4 ऐप

निर्भया केस : पुनर्विचार याचिका पर SC ने सुनाया फैसला, बरकरार रखी चारों दोषियों की फांसी की सजा


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.