डिफॉल्टर्स को भी मिलेगा ओटीएस का तोहफा

2020-02-16T05:45:57Z

-केडीए ने ग्रुप हाउसिंग प्रोजेक्ट्स को भी ओटीएस में किया गया है शामिल, पेनल इंट्रेस्ट पर मिलेगी 3 परसेंट की छूट

-620 फ्लैट एलॉटीज पर बकाया हैं 9.30 करोड़ रुपए, ओटीएस के लिए सेलेक्ट की गई हैं शहर में टोटल 3553 प्रॉपर्टी

KANPUR: केडीए के फ्लैट बुक कराकर इंस्टॉलमेंट जमा न कर पाने वाले डिफॉल्टर्स को भी ओटीएस का तोहफा मिलेगा। ऐसे फ्लैट्स की संख्या 620 हैं और इन पर 9.30 करोड़ रुपए बकाया है। फ्लैट्स को मिलाकर फिलहाल केडीए ने 3553 प्लॉट, कालोनी सेलेक्ट की, जोकि वन टाइम सेटलमेंट स्कीम(ओटीएस) के दायरे में आ रही है।

जोन चार में सबसे ज्यादा डिफॉल्टर

दरअसल केडीए वन टाइम सेटलमेंट स्कीम लागू करनी जा रही है। जिसमें बकाएदारों को केडीए 3 परसेंट पेनल इंट्रेस्ट की छूट देगा। इसके लिए हाउसिंग एंड अरबन प्लानिंग डिपार्टमेंट के प्रिंसिपल सेक्रेटरी दीपक कुमार की तरफ से गाइडलाइंस जारी की गई हैं। गाइडलाइंस आते ही केडीए ने ओटीएस के दायरे में आने वाली प्रॉपर्टीज तलाशनी शुरू कर दी है। फिलहाल केडीए इम्प्लाइज ने ओटीएस के लिए 3553 प्रॉपर्टीज सेलेक्ट की हैं। इन प्रॉपर्टी पर 53.29 करोड़ रुपए बकाया है। इन प्रॉपर्टीज में सबसे अधिक जोन चार की प्रॉपर्टी है। इनकी संख्या 951 है और 1426.50 लाख रुपए बकाया है।

53 करोड़ है बकाया

इसी तरह दूसरे नम्बर पर जोन तीन है, जिसकी 721 प्रॉपर्टीज पर 1081.50 लाख निकल रहे हैं। वहीं जोन एक और दो में क्रमश: 259 व 366 प्रॉपर्टी ओटीएस के दायरे में आ रही हैं। इन पर क्रमश: 388.50 लाख व 549.00 लाख रुपए बकाया है। वहीं 620 फ्लैट पर 9.30 करोड़ रुपए बकाया है।

--ओटीएस स्कीम के दायरे में 3500 से ज्यादा प्रॉपर्टी आ रही हैं। इन पर 50 करोड़ से अधिक बकाया है। जल्द ही स्कीम लागू की जाएगी.-- एसपी सिंह, सेक्रेटरी केडीए

ओटीएस में आ रही प्रॉपर्टी

प्रॉपर्टी-- संख्या

फ्लैट-- 620

कॉमार्शियल-- 128

एचआईजी-- 173

एमआईजी-- 271

एलआईजी-- 583

ईडब्ल्यूएस-- 1778

टोटल प्रॉपर्टी-- 3553

जोन-- प्रॉपर्टी -बकाया

एक--259-- 388.50 लाख

दो-- 366-- 549.00 लाख

तीन--721--1081.50 लाख

चार--951--1426.50 लाख

विश्व बैंक-- 636--954.00 लाख

ग्रुप हाउसिंग--620-930 लाख

टोटल-- 3553--5329.50 लाख

Posted By: Inextlive

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.