यूपी में परवान चढने लगा डिफेंस कॉरीडोर 25 लाख लोगों को मिलेगा रोजगार

2018-09-15T11:29:14Z

उत्तर प्रदेश में बनने वाले डिफेंस कॉरीडोर को लेकर कंपनियों ने उत्साह दिखाना शुरू कर दिया है।खास बात तो यह है कि इससे बहुत जल्द यूपी में रोजगार की बहार आने वाली है।

- यूपी में परवान चढने लगा डिफेंस कॉरीडोर, अधिकारियों में उत्साह
- छह जिलों की तरक्की के साथ बुंदेलखंड की सूरत बदलेगा कॉरीडोर
- 06 जिलों से होकर गुजरेगा डिफेंस कॉरीडोर
- 20 हजार करोड़ रुपये का निवेश होने की उम्मीद
- 2.5 लाख लोगों को मिलेगा कॉरीडोर में रोजगार
- 3000 हेक्टेयर भूमि केवल बुंदेलखंड में होगी अधिग्रहित
- इन प्रोडक्ट्स का होगा निर्माण
lucknow@inext.co.in
LUCKNOW: सूबे में बनने वाले डिफेंस कॉरीडोर को लेकर कंपनियों ने उत्साह दिखाना शुरू कर दिया है। कॉरीडोर में उद्योग स्थापित करने के लिए भारत इलेक्ट्रानिक्स लिमिटेड ने राज्य सरकार से संपर्क साधा है। यूपीडा के सूत्रों की मानें तो नवंबर से डिफेंस कॉरीडोर के लिए भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया शुरू होने के बाद बीईएल को भूमि मुहैया करायी जाएगी। वहीं यूपीडा के सूत्रों की मानें तो डिफेंस कॉरीडोर में निवेश के लिए अब तक करीब 40 प्रस्ताव मिल चुके हैं।
5000 हेक्टेयर भूमि होगी अधिग्रहित
डिफेंस कॉरीडोर के लिए राज्य सरकार छह जिलों में करीब 5000 हेक्टेयर भूमि को अधिग्रहित करेगी। इसके एवज में किसानों को भूमि की कीमत का चार गुना ज्यादा मुआवजा भी दिया जाएगा। आगरा, अलीगढ, झांसी, चित्रकूट, कानपुर और लखनऊ से गुजरने वाले इस कॉरीडोर की मदद से इन इलाकों का सर्वांगीण विकास भी संभव हो सकेगा। साथ ही बुंदेलखंड इलाके में भी विकास की राह प्रशस्त होगी। ध्यान रहे कि डिफेंस कॉरीडोर में निवेश के लिए देश-विदेश की कई कंपनियां यूपी सरकार के संपर्क में हैं।
कूपर कंपनी को कंसल्टेंट नियुक्त किया
साथ ही आईआईटी कानपुर समेत कई नामी शैक्षिक प्रतिष्ठान भी यहां पर अपने शिक्षण केंद्र स्थापित करने की तैयारी में हैं जो डिफेंस कॉरीडोर के लिए प्रशिक्षित मैनपावर मुहैया कराएंगे। ध्यान रहे कि हाल ही में कैबिनेट द्वारा डिफेंस कॉरीडोर के लिए उप्र रक्षा तथा एयरोस्पेस इकाई एवं रोजगार प्रोत्साहन नीति 2018 को मंजूरी भी दी है। कॉरिडोर में जल्द कंपनियां आने को केंद्र सरकार ने डिफेंस इंवेस्टर सेल भी बनाया है। साथ ही प्राइस वाटरहाउस कूपर कंपनी को कंसल्टेंट नियुक्त किया है।

इसका होगा निर्माण

तोपखाने, सैन्य उपकरण, ड्रोन का विर्निमाण, वायुयान और हेलीकॉप्टर एसेंबलिंग सेंटर, डिफेंस पार्क, बुलेटप्रूफ  जैकेट, आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस को बढ़ावा देने के उपकरण, ऑर्डिनेंस फैक्ट्री, डिफेंस इनोवेशन हब।

डिफेंस कॉरीडोर : कानपुर में लगाई जाएगी प्रदर्शनी, 240 उत्पादों का होगा प्रदर्शन

डिफेंस कॉरीडोर दूर करेगा पिछड़ापन चमकेगा बुंदेलखंड : योगी


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.