दिल्ली सरकार ने रद की विश्वविद्यालय परीक्षाएं, लिखित एग्जाम न कराने के निर्देश

Updated Date: Sat, 11 Jul 2020 05:14 PM (IST)

अंतिम वर्ष की परीक्षाएं सहित राज्य की सभी विश्वविद्यालय परीक्षाएं दिल्ली सरकार ने रद कर दी हैं। राज्य सरकार ने विश्वविद्यालयों को लिखित परीक्षा आयाेजित किए बिना छात्रों को डिग्री देने लिए कोई सुधारवादी मानक तय करने के निर्देश दिए हैं।


नई दिल्ली (आईएएनएस)। दिल्ली सरकार ने छात्रों को बड़ी राहत देते हुए शनिवार को विश्वविद्यालय की सभी परीक्षाएं दर करने की घोषणा की है। इस आदेश के तहत राज्य विश्वविद्यालय की फाइनल सेमेस्टर सहित हर प्रकार की परीक्षाएं रद हो गई हैं। राज्य सरकार ने यह निर्णय नोवल कोरोना वायरस की महामारी को देखते हुए लिया है। देश की राजधानी दिल्ली में दिल्ली टेक्निकल यूनिवर्सिटी (डीटीयू), नेशनल लाॅ यूनिवर्सिटी (एनएलयू), अमेडकर यूनिवर्सिटी और गुरु गोविंद सिंह इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी सहित अन्य विश्वविद्यालय शामिल हैं।पिछली परीक्षाओं के आधार पर डिग्री
प्रेस ब्रीफिंग में दिल्ली के शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि असाधारण समय में सरकार ने असाधारण निर्णय लिए हैं। यही वजह है कि दिल्ली सरकार ने राज्य विश्वविद्यालयों की सभी परीक्षाएं रद करने का फैसला लिया। सेमेस्टर और टर्मिनल एग्जाम भी रद कर दिए गए हैं। हालांकि डिग्री प्रदान करने के लिए विश्वविद्यालय मूल्यांकन के मानक तय करेंगे। विश्वविद्यालयों को निर्देश दिए गए हैं कि वे लिखित परीक्षाएं आयोजित न कराएं और छात्रों के पूर्व प्रदर्शन के आधार पर उनका मूल्यांकन करें। वे चाहें तो कोई अन्य सुधारवादी तकनीक अपना सकते हैं।केजरीवाल ने पीएम को लिखा खत


सिसोदिया ने कहा कि अंतिम वर्ष के छात्रों को डिग्री देना जरूरी है क्योंकि उनमें से कुछ को जाॅब लेनी, किसी को इंटरव्यू देना है तो कुछ छात्रों को दूसरे कोर्सों में एडमिशन लेना है। विश्वविद्यालयों को निर्देश दिए गए हैं कि वे मूल्यांकन के मानक या फार्मूला तय करें और उसके मुताबिक छात्रों को डिग्री प्रदान करें। सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर इसी तरीके से केंद्रीय विश्वविद्यालयों के छात्रों को डिग्री प्रदान करने के लिए कहा।

Posted By: Satyendra Kumar Singh
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.