तीन तलाक बिल के विरोध में मुस्लिम महिलाओं को विशाल प्रदर्शन

2018-03-19T07:00:17Z

- टीले वाली मस्जिद पर महिलाओं का उमड़ा हुजूम

- मुस्लिम महिला विंग की प्रेसीडेंट आसमा जहरा ने किया संबोधित

LUCKNOW :

हाथों में तख्तियां लिए, शरीअत को अपना अधिकार बताती व केंद्र सरकार के द्वारा लाए जा रहे ट्रिपल तलाक बिल के विरोध में रविवार को बड़ी संख्या में मुस्लिम महिलाओं ने टीले वाली मस्जिद के पास प्रदर्शन किया। महिलाओं ने राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन सौंप तीन तलाक बिल वापस लेने की मांग की। जलसे में टीले वाली मस्जिद के इमाम मौलाना शाह फजले मन्नान, ऐशबाग ईदगाह के इमाम मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली व एडवोकेट जफरयाब जिलानी सहित कई लोग शामिल रहे।

मंजूर नहीं तीन तलाक बिल

तीन तलाक बिल के खिलाफ टीले वाली मस्जिद में आयोजित जलसे में सुबह से ही महिलाओं का आना शुरू हो गया था। शहर के अलावा आस पास के जिलों से भी मुस्लिम महिलाएं विरोध प्रदर्शन में शामिल हुई। जलसे की मुख्य अतिथि पर्सनल लॉ बोर्ड की मुस्लिम विंग की संयोजक डॉ। आसमा जहरा ने कहा तलाक मसला नहीं मसले का हल है। मुस्लिम में तलाक के मामले सबसे कम है। तीन तलाक बिल महिलाओं और बच्चों के खिलाफ है। इस्लामी शरियत में केंद्र सरकार की दखलअंदाजी बर्दाश्त नहीं है। इस बिल से ज्यादा हमारे समुदाय के लिए सुरक्षा, शिक्षा की जरूरत है उस पर सरकार को ध्यान देना चाहिए। वहीं बोर्ड की सदस्य ममदूहा माजिद ने कहा कि तीन तलाक बिल देश के संविधान और महिलाओं के अधिकारों के खिलाफ है। मुस्लिम महिलाएं कुरआन और हदीस के मुताबिक अपनी जिंदगी गुजारना चाहती है। शरीयत पर अमल करना हमारा तहफ्फुज और वकार है।

हमारी धार्मिक आजादी में दखल है

वहीं जलसे की संयोजक निगहत परवीन खां ने कहा कि भारतीय संविधान के तहत देश के हर नागरिक को अपने धर्म के अनुसार जीने की आजादी है। सभी वर्ग व धर्मो के लोगों को धार्मिक स्वतंत्रा का अधिकार है। केंद्र सरकार तीन तलाक बिल लागू कर मुस्लिम महिलाओं की धार्मिक स्वतंत्रा का हनन कर रही है। आमना रिजवान ने कहा कि मुस्लिम वीमेन प्रोटेक्शन एंड राइट्स इन मैरिज एक्ट 2017 सियासी उद्देश्यों को हासिल करने के लिए जल्दबाजी में लोकसभा में मंजूर कराया गया है, अगर सरकार की नियत साफ होती तो बिल बनाने से पहले मुस्लिम विद्वानों से परामर्श करती, लेकिन ऐसा नहीं किया गया।

----

अगला प्रदर्शन दिल्ली में

ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के समर्थन में व तीन तलाक बिल के विरोध में पूरे देश भर में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। बोर्ड की महिला विंग की संयोजक डॉ। आसमा जहरा ने कहा कि जल्द ही हजारों की संख्या में मुस्लिम महिलाएं नई दिल्ली में तीन तलाक बिल के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन करेंगी। अब तक 16 जगहों पर विरोध प्रदर्शन हो चुका है जो दिन ब दिन बढ़ता जा रहा है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.