गंगा की गोद से अवतरित होंगे महादेव

2018-11-17T06:00:32Z

-देवदीपावली पर दिखेगा खास नजारा

-20 लाख दीयों से रोशन होंगे घाट

भगवान शंकर की जटा से गंगा का अवतरण हुआ है लेकिन काशी में भोले नाथ गंगा से अवतरित होंगे। यह खास नजारा दिखेगा 23 नवम्बर को देवदीपावली पर। दुनियाभर में मशहूर इस पर्व की तैयारी जोर-शोर से हो रही है। इसे भव्य बनाने के लिए दस किलोमीटर लंबे गंगा तट पर मौजूद घाटों पर करीब बीस लाख दीप जलाये जाएंगे। गंगा उस पार रेत भी दीयों की रोशनी से जगमगाती दिखाई देगी साथ ही शहरभर के कुंड-तालाब भी रोशनी से नहा उठेंगे। देवदीपावली के लिएमुखिया सीएम योगी ने 50 लाख रूपए खर्च करने की मंजूरी भी दी है।

सब रह जाएंगे दंग

गंगा सेवा निधि के अध्यक्ष सुशांत ने बताया कि इस बार संस्था ने देवदीपावली की खास तरह की प्लानिंग की है। महोत्सव में रंग-बिरंगी आकर्षक लाइट और फूलों की व्यवस्था की जा रही है। दशाश्वमेध घाट पर गंगा की गोद से विशाल शिवलिंग प्रकट होगा। शाम को आरती के समय शिव की आराधना के साथ गंगा की गोद से विशाल शिव लिंग निकलेगा। 8 गुणे 8 के प्लेटफार्म पर प्रकट होने वाले शिवलिंग की साइज करीब 40 से 50 फीट होगी। दावा है कि यह दृश्य इतना शानदार होगा कि जो भी इसे देखेगा दंग रह जाएगा। इसके अलावा इस बार दशाश्वमेध घाट को एक से बढ़कर एक डिजाइनर फूलों से सजाने के लिए दूसरे प्रदेशों से कारीगरों को बुलाया गया है।

रोशनी से नहा उठेंगे घाट

केंद्रीय देव दीपावली समिति के अध्यक्ष पं.वागीशदत्त शास्त्री के मुताबिक पहली बार गंगा के दूसरे किनारे रेत पर भी दीपों से रोशन होगी। गंगा के 84 घाट और उसके किनारे पर बने ऐतिहासिक भवनों समेत गंगा पार करीब बीस लाख दीप प्रज्ज्वलित करने के लिए सैकड़ों लीटर तेल, दीप-बत्ती जुटाने और घाट समितियों को उसके वितरण की जिम्मेदारी तय कर दी गई है। वहीं परंपरा के अनुसार जहां लोग घरों में देव दीपावली मनाएंगे तो वहीं शहर के कुंड-तालाबों पर भी दीपदान होगा।

इंडिया गेट के साथ अमर जवान ज्योति

देव दीपावली के दिन दशाश्वमेध घाट पर इंडिया गेट और अमर जवान ज्योति की रेप्लिका तैयार होगी। यहां शहीदों को सेना और अर्धसैनिक बलों की टुकडि़यां सलामी देंगी। गंगोत्री सेवा समिति के प्रबंधक मनीष कुमार ने बताया कि समिति इस बार खास तैयारी में जुटी हुई हैं। प्रयाग घाट से शीतला घाट तक दीपों की सजावट से एकजुटता का संदेश देने की तैयारी है। तुलसी घाट पर हर साल की तरह इस बार भी थीम आधारित दीपों की अनूठी सजावट देखने को मिलेगी तो पंचगंगा पर हजारा जलाए जाने की तैयारी है।

पहुंचेंगे सीएम योगी

23 नवंबर को कार्तिक पूर्णिमा के दिन होने वाले देवदीपावली महोत्सव में शामिल होने के लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आएंगे। उनके साथ अन्य भी विशिष्ट अतिथि होंगे। देवदीपावली का अलौकिक दृश्य सीएम को दिखाने के लिए गंगा में विशेष नाव मौजूद रहेंगी। इस पर सीएम सवार होकर लाखों दीयों की रोशनी से नहाये घाटों को देखेंगे।

खुद पर है भरोसा

देव दीपावली महोत्सव की खासियत है कि इसका आयोजन सामाजिक संस्थाओं के सहयोग से होता है। हालांकि इस बार यूपी सरकार ने आर्थिक मदद की पेशकश की है, लेकिन आयोजन से जुड़ी समितियां सरकारी धन के बजाए पहले की तरह खुद और आयोजक व संस्थाओं से मिलने वाले सहयोग से ही तैयारी में जुटी हैं।

लगेगा शिल्प मेला

गंगा महोत्सव के मद्देनजर टूरिज्म डिपार्टमेंट की ओर से गांधी शिल्प मेले को भी भव्य रूप देने की तैयारी है। 20 नवंबर से चौकाघाट स्थित सांस्कृतिक संकुल में आयोजित होने वाले इस मेले में देशभर के शिल्पकार शामिल होंगे। 250 से अधिक स्टॉल पर एक से बढ़कर एक शानदार हस्तशिल्प देखने को मिलेंगे। शहर के लोगों के साथ ही सैलानियों के लिए शिल्प मेला खास होता है।

23 नवम्बर को मनेगी देवदीपावली

84 घाट नहा उठेंगे रोशनी से

20 लाख से अधिक जलाये जाएंगे दीये

10 लाख से अधिक लोग इस खास महोत्सव से बनेंगे साक्षी

50 से अधिक तालाब और कुंड पर भी होगा दीपदान

3 घंटे तक चलेगा विशेष पर्व का आयोजन

देव दीपावली को लेकर तैयारियां चल रही हैं। बाहर से आने वाले खास मेहमानों के ठहरने के लिए इंतजाम किया जा रहा है। गांधी शिल्प मेले की तो तैयारियां हो चुकी है। जल्द ही शिल्पकारों का आना शुरू हो जाएगा।

अविनाश सिंह, ज्वाइंट डायरेक्टर, टूरिज्म डिपार्टमेंट


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.