डीजीपी ओपी सिंह ने अफसरों पर कसे पेंच लोकसभा चुनाव के लिए दिये ये दिशानिर्देश

2019-03-03T09:08:04Z

आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर डीजीपी ओपी सिंह ने शनिवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर मातहतों के पेंच कसे।

lucknow@inext.co.in
LUCKNOW: डीजीपी ओपी सिंह ने चुनावों में गड़बड़ी फैला सकने वाले तत्वों पर कड़ी नजर रखने और उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश दिये। अवैध शराब के खिलाफ चल रहे अभियान को चुनाव को देखते हुए और भी सख्ती से चलाने को कहा गया है। इसी के साथ डीजीपी ने वर्ष 2019 में प्रदेश के सभी जिलों में घटित हुई संगीन आपराधिक घटनाओं की समीक्षा कर उनका जल्द से जल्द खुलासा करने के निर्देश दिये।
चुनाव में न डाल सके कोई खलल
यूपी 100 मुख्यालय में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए प्रदेश भर के सभी एडीजी जोन, आईजी व डीआईजी रेंज और पुलिस कप्तानों से जुड़े डीजीपी ओपी सिंह ने मातहतों से कहा कि आगामी लोकसभा चुनाव में कोई खलल न डाल सके इसके लिये सभी मतदान केंद्रों की संवेदनशीलता की जांच की कार्यवाही समय से पूरी कर ली जाये। साथ ही जिले में उपलब्ध फोर्स व चुनाव के लिये पुलिस बल की जरूरत का आंकलन करते हुए मैनपावर का आडिट कर लिया जाए। इसके अलावा चुनाव में गड़बड़ी पैदा करने वाले व्यक्तियों व असामाजिक तत्वों को चिन्हित कर उनको ज्यादा से ज्यादा जमानत व मुचलकों के जरिए पाबंद कर दिया जाए।
लगातार कार्यवाही जारी रखी जाये
डीजीपी ने कहा कि शस्त्रों के लाइसेंसों का मिलान जिला अधिकारी कार्यालय से करा लिया जाये और इस बारे में जारी निर्देशों के तहत कार्यवाही सुनिश्चित करें। चुनावों में शराब के प्रयोग पर सख्ती से लगाम लगाने के लिये डीजीपी ने निर्देश दिया कि अवैध शराब की तस्करी, बिक्री व उसके निर्माण पर लगातार कार्यवाही जारी रखी जाये। उन्होंने माफियाओं को चिन्हित कर उनके विरुद्ध सख्त कार्यवाही का भी निर्देश दिया। तमाम सतर्कता व सख्ती के साथ ही डीजीपी ने चुनाव ड्यूटी में लगाए गए पुलिसकर्मी व होमगाड्र्स खुद वोटिंग से महरूम न रह जायें, इसके लिये पोस्टल बैलेट का काम भी समय से पूरा करने के निर्देश दिये हैं।  

आपराधिक घटनाओं पर लगाम लगाने के निर्देश

डीजीपी सिंह ने आपराधिक घटनाओं की समीक्षा करते हुए कहा कि डकैती, लूट, हत्या जैसी जिन संगीन घटनाओं का खुलासा नहीं हो सका है, उनका जल्द से जल्द खुलासा किया जाए। गंभीर अपराधों में जमानत पर रिहा अपराधियों व हिस्ट्रीशीटरों का थानावार डोजियर तैयार करने व ऐसे अपराधियों पर निगरानी रखने के भी निर्देश दिये गए। डीजीपी ने कहा कि अपराध व अपराधियों पर अंकुश के लिये प्रोफेशनल व साइंटिफिक तरीके से काम किया जाये। इसके लिये रात में पेट्रोलिंग व चेकिंग प्वाइंट का समय समय पर बदलाव कर चेकिंग की जाये। डीजीपी ने सर्किल ऑफिसरों को रात्रि चेकिंग का निर्देश दिया।

 


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.