डीजीपी का घेराव होते ही पकड़ में आए अंकित के हत्यारे

2014-11-01T07:00:05Z

- अंकित को न्याय दिलाने के लिए लोगों ने किया पीएचक्यू का घेराव

- पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को पीएचक्यू से पहले ही बैरेगेटिंग लगाकर रोका

- गिरफ्त से बाहर बदमाशों की गिरफ्तार के आश्वासन पर समाप्त हुआ धरना

DEHRADUN@inext.co.in

DEHRADUN : अंकित हत्याकांड में गिरफ्त से बाहर बदमाशों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर लोगों ने परेड ग्राउंड से पीएचक्यू कूच किया। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को पीएचक्यू से पूर्व ही बैरेगेटिंग लगाकर रोक दिया। बाद में प्रतिनिधि मंडल ने एडीजी राम सिंह मीणा से मुलाकात कर अपनी बात रखी। एडीजी राम सिंह मीणा ने बदमाशों के पकड़े जाने का आश्वासन प्रतिनिधि मंडल को दिया, जिसके बाद प्रदर्शनकारी शांत हुए।

सीने में मारी थी गोली

दरअसल, क्0 सितंबर को बालावाला निवासी सहायक कृषि अधिकारी के घर घुसे हथियारबंद बदमाशों ने लाखों की डकैती डाली थी। विरोध करने पर घर के इकलौते चिराग अंकित की गोली मारकर हत्या कर दी थी। पुलिस ने वारदात में शामिल शहजाद, नदीम, साजिद व अखलाक को गिरफ्तार किया है, जबकि अकरम व शहजाद पहलवान गिरफ्त से बाहर चल रहे हैं। अकरम ने ही अंकित को गोली मारी थी।

परेड ग्राउंड में जुटे प्रदर्शनकारी

गिरफ्त से बाहर आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर शुक्रवार को पीएचक्यू घेराव का कार्यक्रम था। सुबह ग्यारह बजे छात्र नेताओं के अलावा बड़ी संख्या में स्थानीय महिला और पुरुष परेड ग्राउंड पहुंचे। सूचना मिलते ही पुलिस में हड़कंप मच गया। एसपी सिटी अजय सिंह मय फोर्स मौके पर पहुंचे। उन्होंने प्रदर्शनकारियों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन वे शांत न हुए।

धरने पर बैठे प्रदर्शनकारी

बाद में प्रदर्शनकारियों ने शांति के साथ पीएचक्यू कूच किया, लेकिन इससे पूर्व ही डूंगा हाउस पर पुलिस ने सभी को बैरेगेटिंग लगाकर रोक दिया। इससे गुस्साए लोग सड़क पर ही धरने पर बैठ गए। प्रदर्शनकारियों का आरोप था कि गरीबों के आंदोलन को इसी तरह दबाया जाता है। बाद में एडीजी लॉ एंड आर्डर राम सिंह मीणा ने प्रदर्शनकारियों के एक प्रतिनिधि मंडल को मुलाकात के लिए बुलाया।

एडीजी के आश्वासन पर धरना समाप्त

ग्यारह सदस्यी दल ने एडीजी राम सिंह मीणा से मुलाकात कर अपनी बात रखी। प्रतिनिधि मंडल का कहना था कि हत्याकांड को भ्ख् दिन बीत चुके हैं, लेकिन अभी हत्यारोपी पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं। उन्होंने जल्द से जल्द आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की। मामले में एडीजी लॉ एंड ऑर्डर राम सिंह मीणा ने प्रतिनिधि मंडल को बताया कि गिरफ्त से बाहर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। उन्हें दून लाने की तैयारी की जा रही है। यह बात प्रतिनिधि मंडल ने धरना स्थल पहुंचकर प्रदर्शनकारियों को बताई, तब जाकर धरना समाप्त हुआ।

------------

पंजाब से पकड़ा गया आरोपी

पुलिस का दावा है कि गिरफ्त से बाहर दोनों आरोपी पकड़ लिए गए हैं, लेकिन सूत्रों की माने तो पुलिस अभी तक शहजाद पहलवान को ही गिरफ्तार कर सकी है, उसे पंजाब में पकड़ा गया है। मुख्य हत्यारा अकरम अभी भी फरार है। जिसकी धरपकड़ के प्रयास जारी हैं। फिलहाल पुलिस इस आंदोलन को दबा गई, लेकिन अकरम की गिरफ्तारी न होने तक प्रदर्शनकारी शांत होने वाले नहीं है। अंकित के चाचा दिनेश थपलियाल ने बताया कि जब तक अंकित को न्याय नहीं मिल जाता वे चुप बैठने वाले नहीं है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.