राष्ट्रपति चुनाव में रूसी दखल के अपने बयान से पलते ट्रंप कहा गलतफहमी के चलते हुआ ऐसा

2018-07-18T11:40:38Z

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप रूसी दखल को लेकर दिए गए हेलिंसकी में अपने बयानों से पलट गए हैं। उनका कहना है कि उनके बयानों को गलत तरीके से प्रस्तुत किया गया है।

भारी आलोचना के बाद स्पष्टीकरण   
वाशिंगटन (आईएएनएस)।
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप रूसी दखल को लेकर दिए गए हेलिंसकी में अपने बयानों से पलट गए हैं। उन्होंने मंगलवार को मीडिया से बात करते हुए कहा कि वह अपने रूसी समकक्ष व्लादिमीर पुतिन के साथ हेलसिंकी में अपनी बैठक के दौरान यह कहा था कि ये हो सकता है कि मॉस्को ने 2016 के अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में हस्तक्षेप किया था। 'ईएफई' समाचार के मुताबिक, ट्रंप का यह स्पष्टीकरण डेमोक्रेट और अपनी रिपब्लिकन पार्टी के सदस्यों की उस आलोचना के बाद आया, जिसमें कहा जा रहा था कि ट्रंप ने खुफिया एजेंसी के दावे को गलत ठहराया है।
ऐसा क्यों किया होगा
बता दें कि यह विवाद तब शुरू हुआ जब रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और डोनल्ड ट्रंप सोमवार को हेलिंसकी में बातचीत के बाद मीडिया के सामने आए थे। एक पत्रकार के सवाल ने ट्रंप से सवाल किया, 'पुतिन ने 2016 राष्ट्रपति चुनावों में दखल के आरोप को नकार दिया है लेकिन अमेरिका की खुफिया एजेंसियों का कहना है कि रूस ने दखल दिया है। आपसे सवाल ये है कि आप क्या मानते हैं?' इसपर ट्रंप से जवाब देते हुए कहा, 'अमेरिकी अधिकारियों ने मुझे बताया कि उन्हें ऐसा लगता है कि रूस का हाथ है। अभी मेरे साथ पुतिन हैं, उन्होंने अभी कहा कि रूस का हाथ नहीं है। मैं भी यही कहूंगा कि आखिर उन्होंने ऐसा क्यों किया होगा।
गलतफहमी की वजह से ऐसा हुआ
अब डोनाल्ड ट्रंप का कहना है कि कुछ गलतफहमी की वजह से एक वाक्य में उन्होंने 'क्यों नहीं किया होगा' के बजाय 'क्यों किया होगा' कह दिया। इसके साथ उन्होंने यह भी कहा कि वो अपनी खुफिया एजेंसियों के दावे पर पूरा भरोसा करते हैं। वे मानते हैं कि 2016 राष्ट्रपति चुनावों में रूस ने दखल दिया था। हालांकि इससे चुनावों पर कोई फर्क नहीं पड़ा था।

पुतिन और ट्रंप समिट के दौरान सीरिया समेत कई गंभीर मुद्दों पर करेंगे बातचीत

फिनलैंड की राजधानी हेलिंसकी में पहली बार मिलेंगे ट्रंप और पुतिन, ये होगी तारीख


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.