छोटी दुकानों से लेकर हॉस्टल तक नशे की सप्लाई

2019-02-22T06:01:18Z

- एक किलो से अधिक गांजे के साथ तस्कर व महिला साथी पकड़ी

- तस्कर के अलावा महिला भी गैंग में शामिल

- शहर में कई स्थानों पर पहुंचाया जाता है नशा

आगरा। एक बार फिर से आगरा में नशे के कारोबार का मामला उजागर हुआ है। ताजगंज पुलिस ने एक युवक और उसकी महिला साथी को गांजे के साथ पकड़ा है। पुलिस अब इनके नेटवर्क की तलाश कर रही है। संभावना है कि शातिर गांजा हॉस्टल और शहर के विभिन्न स्थानों पर सप्लाई करने वाले थे। फतेहाबाद के एक सप्लायर से माल खरीदा गया था। सप्लायर के तार राजस्थान और मध्य प्रदेश से जुड़े हैं।

मुखबिर की सूचना पर पकड़ा

थाना ताजगंज पुलिस ने बुधवार को मुखबिर की सूचना पर होटल अमर से 200 मीटर दूर एचडीएफसी बैंक के सामने महिला और एक युवक को पकड़ा है। पुलिस ने उनके पास से 1.450 किलो गांजा बरामद किया। पुलिस के मुताबिक पकड़े गए दोनों सप्लायर का नाम नासिर पुत्र हुक्कनुद्दीन, निवासी नगर हिस्सा, फतेहपुर सीकरी व एक महिला सप्लायर है। पुलिस के मुताबिक दोनों पहले भी दो बार फतेहाबाद से जेल जा चुके हैं।

बॉक्स

फतेहाबाद में है गांजे की सप्लाई

पुलिस के मुताबिक दोनों ने पूछताछ में बताया कि वह फतेहाबाद से गांजा लेकर आए हैं। वहां पर जिसने उन्हें गांजा दिया, उसकी तलाश की जा रही है। फतेहाबाद के सप्लायर के तार राजस्थान और मध्य प्रदेश से जुड़े होने आशंका बन रही है। पुलिस इस बिंदु की जांच कर रही है। इसके अलावा सप्लायर से और कितने लोग जुड़े हैं, इस बात की भी जानकारी की जा रही है।

बॉक्स

12 जनवरी 2018 को जगदीशपुरा पुलिस व एसटीएफ ने थाना बल्देव स्थित गांव के प्रधान समेत दो को गांजे की तस्करी के साथ पकड़ा है। पुलिस ने इनके पास से दो गाडि़यों में 50 लाख का गांजा बरामद किया है। शातिर उड़ीसा से नशे की खेप लेकर आए थे। इनमें प्रॉपर्टी डीलर विशाल अग्रवाल पुत्र स्व। शंकर लाल निवासी द्वारिकापुरी शास्त्रीपुरम, मथुरा, बल्देव थाना स्थित गांव अवेरमी के ग्राम प्रधान होशियार सिंह पुत्र शिव चरन सिंह निवासी शांती रेजीडेंसी, दहतोरा को पकड़ा था।

बॉक्स

9 किग्रा गांजे के साथ पकड़ा था

19 फरवरी 2018 को थाना सदर पुलिस ने श्याम सिंह उर्फ श्याम बाबू निवासी नई आबादी, नंदपुरा को अरेस्ट किया था। उसके पास से 9 किग्रा गांजा बरामद किए था। गांजा बाजार में 5 हजार रुपये किलो है। आरोपी से करीब पचास हजार रुपये का गांजा बरामद किया है। ये शातिर भी पुडि़या में गांजा सप्लाई का काम करता था।

बॉक्स

होटल में मीटिंग कर होती है सप्लाई

सूत्रों की मानें तो सरगना कई बार गांजे की सप्लाई की मीटिंग आगरा में कर चुके हैं। वह कई बार सिकंदरा स्थित होटल में सरगना मीटिंग कर चुके हैं।

-------------

बाहर से आती है नशे की खेप

पुलिस सूत्रों के अनुसार नशे की खेप मुख्य रूप से नेपाल, त्रिपुरा, बिहार, मणिपुर, नीमच मप्र। आदि स्थानों से आती है। जगदीशपुरा पुलिस ने 12 फरवरी 2018 को आयशर कोडा गाड़ी में 50 लाख का गांजा पकड़ा था जो उड़ीसा से यहां सप्लाई होने आया था। गाड़ी में नीचे गांजा और ऊपर नई साडि़यां रखी थीं। इसी तरह से ट्रकों में लाई जाने वाली नशे की खेप में ऊपर फल रख दिए जाते हैं जिससे कोई पहचान न सके।

सिटी में चल रही सप्लाई

नशे के कारोबारी सिटी में सप्लाई देते हैं। सप्लाई होने के बाद माल फुटकर में बिकता है। नशे के कारोबारी माल खरीद कर नीचे वालों को 5 से 10 किलो देते हैं और नीचे वाले इनकी पुडि़या बना कर एरिया में बेचना शुरु कर देते हैं। सिटी में कई स्थानों पर पुडि़या में गांजे का माल मिलता है।

स्टूडेंट भी हैं नशे की चपेट में

इस नशे के शिकार एरिया के लोग ही नहीं बल्कि स्टूडेंट भी हैं। सूत्रों की माने तो नशे की पुडि़या हॉस्टल व कॉलेजों में सप्लाई होती है। पुलिस इस बिंदु पर भी काम कर रही है। पुलिस का कहना है कि पकड़े गए आरोपी के पास से गांजा कहां-कहां सप्लाई होता था इसकी जानकारी की जा रही है।

बॉक्स

सिटी में कई स्थानों पर मिल रहा नशा

सूत्रों की माने तो थाना एत्मादउद्दौला स्थित गढ़ी चांदनी, प्रकाश नगर, कब्रिस्तान के पास, राम लीला ग्राउंड के पास, मुल्ला की प्याऊ खेरिया मोड़, ईदगाह बस स्टेंड के पास, पाय चौकी के पास, सुल्तानगंज की पुलिया के पास, कर्मयोगी कमला नगर, फुब्बारा, ट्रांसपोर्ट नगर सीएनजी पंप के पास गांजा बेचा जाता है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.