फर्जी बैंक मैनेजर बन करता था ठगी अरेस्ट

2018-11-12T06:00:37Z

-लोगों ने बड़हरा निवासी को पकड़ किया पुलिस के हवाले

श्चड्डह्लठ्ठड्ड@द्बठ्ठद्ग3ह्ल.ष्श्र.द्बठ्ठ

न्क्त्रन्/क्कन्ञ्जहृन् : फर्जी बैंक मैनेजर बनकर लोन और नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले एक फ्रॉड को रविवार की दोपहर पब्लिक ने पकड़ नवादा थाना पुलिस के हवाले कर दिया। पकड़ा गया आरोपी फ्रॉड रविकांत उपाध्याय मूल रूप से बड़हरा के बभनगांवा निवासी आरएन उपाध्याय का पुत्र है। पहले वह झारखंड के हजारीबाग में रहता था। पकड़े गए फ्रॉड पर लोन और नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने का आरोप है। इसे लेकर न्यू कॉलोनी पकड़ी निवासी अनिरुद्ध प्रसाद ने नवादा थाने में शिकायत दर्ज कराई है। जिसके आधार पर पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।

लोन और नौकरी के नाम पर ठगी

बताया गया कि बड़हरा के बभनगांवा निवासी रविकांत उपाध्याय अमीरचंद कोठी, कतीरा स्थित अनिरुद्ध प्रसाद के दुकान पर लोन दिलाने के सिलसिले में आया हुआ था। जिसके बाद पब्लिक ने उसे पकड़ पुलिस के हवाले कर दिया। न्यू कॉलोनी पकड़ी निवासी अनिरुद्ध प्रसाद का आरोप है कि आरोपी ने उससे लोन देने के नाम पर 45 हजार रुपए लिए है।

स्वयं को बताता था ब्रांच मैनेजर

अपने को एसबीआई का ब्रांच मैनेजर बता रहा था। टेलर मास्टर ललन शर्मा ने 41 हजार रुपए लिए जाने का आरोप लगाया है। नवादा के कपड़ा दुकानदार सुशील कुमार ने बीस हजार और पकड़ी निवासी रिटायर्ड टीचर राजेन्द्र साह ने नौकरी दिलाने के नाम पर तीस हजार रुपए की ठगने का आरोप लगाया है। नवादा थाना इंस्पेक्टर सुबोध कुमार ने बताया कि शिकायत के आधार पर एफआईआर दर्ज कर मामले की जांच-पड़ताल की जाएगी।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.