ट्रैफिक रूल्स वॉयलेशन पर स्मार्ट मशीन से ईचालान

2019-08-23T06:00:39Z

देहरादून

ट्रैफिक रूल्स का वॉयलेशन करने वालों का अब देहरादून में स्मार्ट मशीन से ई-चालान होगा। स्मार्ट मशीन में नंबर दर्ज करते ही वाहन का वेरिफिकेशन और पहले हुए चालान की डिटेल भी पता चल जाएगी। ऐसे में वाहन पर लिखा नंबर सही है या गलत इसका पता लगने के साथ साथ लगातार ट्रैफिक रूल्स ब्रेक करने वालों पर नए मोटर व्हीकल एक्ट के प्रोविजन्स के अनुसार एक्शन लिया जा सकेगा। थर्सडे को एसएसपी देहरादून ने 136 स्मार्ट ई-चलान मशीन ट्रैफिक, थाना और सीपीयू टीमों के सुपुर्द कर दी।

एसएसपी की मौजूदगी में किया पहला चालान

थर्सडे को एसएसपी अरुण मोहन जोशी ने दिलाराम चौक पर सीपीयू टीम के साथ ई-चालान की शुरुआत की। स्मार्ट मशीन से पहला चालान एसएसपी की मौजूदगी में किया गया। इस दौरान ई-चालान मशीन की खूबियां देखकर एसएसपी भी खुश नजर आए।

250 से अधिक के पास चालान के राइट्स

सब इंस्पेक्टर और उनसे हायर पुलिस ऑफिसर्स के पास मोटर व्हीकल एक्ट में चालान करने का अधिकार है। दून के सभी पुलिस थानों, ट्रैफिक पुलिस और सीपीयू मिलाकर करीब 250 ऐसे पुलिस अधिकारी हैं, जिनके पास चालान करने का अधिकार है। नई ई-चालान मशीन से चालान करने के लिए इन सभी अधिकारियों का यूजर आईडी बनाया जाएगा।

136 स्मार्ट मशीन से चालान शुरू

फिलहाल 136 स्मार्ट मशीन खरीदी गई हैं, जिनसे चालान शुरू हो गया है। भविष्य में और मशीन खरीदी जानी है। इन मशीनों से जो पुलिस अधिकारी ड़्यूटी पर चालान करेगा, उसे अपने यूजर आईडी-पासवर्ड से मशीन को अनलॉक करना होगा। ऐसे में मशीन में यह भी डेटा रहेगा कि चालान किस अधिकारी ने किया, या किस के यूजर आईडी पासवर्ड से किया गया।

क्यूआर कोड स्कैन कर कैशलैस पेमेंट

ई-चालान की स्मार्ट मशीन में डिजिटल पेमेंट की सुविधा भी है। इसे एसबीआई का एक अकाउंट खोलकर उससे लिंक किया गया है। इस मशीन पर क्यूआर कोड मौजूद है, जिसे स्कैन कर चालान का कैशलैश पेमेंट भी किया जा सकेगा।

इफेक्ट :

पुलिस पर

-वाहन का नंबर वेरिफाई करने में आसानी

-चालान बुक छपवाने के झंझट से मुक्ति

-वाहन की रूल्स ब्रेक हिस्ट्री भी मौके पर चेक

-चालान बुक भरने की लंबी प्रक्रिया से मुक्ति

-वाहन चालक से बहस की नौबत से मुक्ति

-चार्जिग और सेफ्टी पर अधिक फोकस

- यूजर आईडी से दुरुपयोग का डर

पब्लिक पर

- कैशलेस चालान भुगतने की सुविधा

- सख्त एक्शन के डर से नियम फॉलो

-बार-बार नियम तोड़ने पर सख्त एक्शन

-कैश नहीं होने की बहाना नहीं चलेगा

-------------

स्मार्ट मशीन से ई-चालान स्टार्ट किया गया है। इससे ट्रैफिक रूल्स को फॉलो कराने और चालान करने की सहूलियत व स्मार्टनेस तो आएगी ही नए मोटर व्हीकल एक्ट को फॉलो करने में भी पुलिस को आसानी होगी।

- अरुण मोहन जोशी, एसएसपी दून


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.