कनेरिया पर ईसीबी ने लगाया आजीवन प्रतिबंध

2012-06-23T13:25:00Z

पाकिस्तान के पूर्व टेस्ट क्रिकेटर दानिश कनेरिया पर स्पॉट फिक्सिंग के एक मामले में इंग्लैंड के क्रिकेट बोर्ड ने आजीवन प्रतिबंध लगा दिया है

उन पर ये प्रतिबंध मर्विन वेस्टफिल्ड मामले में इंग्लैंड और वेल्स क्रिकेट बोर्ड ने लगाया है. वहीं वेस्टफिल्ड पर पांच साल का प्रतिबंध लगाया गया है लेकिन वो तीन साल के बाद क्लब क्रिकेट खेल सकेंगे.

एक लिखित बयान में ईसीबी ने कहा, "हम दानिश कनेरिया को क्रिकेट के खेल के लिए बड़ा खतरा मानते हैं. हमें खेल को भ्रष्टाचार से बचाने के लिए उचित कदम उठाने पड़ेंगे. यही देखते हुए हमने सर्वसम्मति से फैसला लिया कि एकमात्र उचित कदम ये है कि आजीवन प्रतिबंध लगाया जाए."

ईसीबी ने आगे लिखा, "इस फैसले का मतलब ये हुआ कि आज से दानिश कनेरिया ईसीबी के किसी भी खेल, संगठन या संचालन के मामले में हिस्सा नहीं ले सकेंगे." दानिश कनेरिया ने पाकिस्तान के लिए 61 टेस्ट मैच खेले हैं जिनमें उन्होंने 261 विकेट झटके हैं. उन्होंने 18 एक दिवसीय मैच भी खेले हैं और 15 विकेट लिए हैं.

मामला

पाकिस्तानी स्पिनर दानिश कनेरिया का नाम इंग्लैंड में एक पूर्व काउंटी क्रिकेट खिलाड़ी के विरुद्ध मुकदमें के दौरान स्पॉट-फ़िक्सिंग के सिलसिले में सामने आया था. एसेक्स के गेंदबाज़ मर्विन वेस्टफ़ील्ड ने स्पॉट-फ़िक्सिंग की बात मानी थी.

वेस्टफ़ील्ड ने अदालत को बताया है कि दानिश कनेरिया ने उनसे स्पॉट-फ़िक्सिंग के लिए संपर्क किया था और कहा था कि अगर वे एक ओवर निश्चित रन देंगे तो उन्हें पैसे मिलेंगे. कनेरिया को इस केस के लिए साल 2010 में गिरफ़्तार किया गया था लेकिन बाद में उन्हें बिना कोई आरोप दायर छोड़ दिया गया था. मर्विन वेस्टफ़ील्ड ने पांच सितंबर 2009 को एक मैच के दौरान स्पॉट-फ़िक्सिंग करने के लिए भ्रष्ट धनराशि स्वीकार करने की बात मानी थी.


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.