शिक्षक भर्ती रिजल्ट घोषित करने वाली एजेंसी ब्लैक लिस्टेड

2018-10-29T06:01:02Z

शिक्षक भर्ती 2018 में लापरवाही और अनियमितता के बाद परीक्षा नियामक प्राधिकारी ने की कार्रवाई

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: सूबे के परिषदीय प्राथमिक स्कूलों में सहायक अध्यापक के 68500 पदों पर नियुक्ति के लिए पहली बार आयोजित सहायक अध्यापक लिखित परीक्षा के रिजल्ट में गड़बड़ी के मामले में आखिरकार एजेंसी के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई हो गई। सचिव परीक्षा नियामक की ओर से रिजल्ट घोषित करने वाली एजेंसी मैनेजमेंट कंट्रोल सिस्टम प्राइवेट लिमिटेड को हमेशा के लिए ब्लैक लिस्ट कर दिया गया। एजेंसी का भुगतान भी रोका जाएगा। इसके साथ ही भविष्य में संबंधित एजेंसी से किसी भी प्रकार का सरकारी कार्य नहीं कराने का निर्देश भी जारी किया गया है।

कार्रवाई की उठ रही थी मांग

शिक्षक भर्ती लिखित परीक्षा 68500 के रिजल्ट में गड़बड़ी सामने आने के बाद से संबंधित एजेंसी के खिलाफ भी लगातार कार्रवाई की मांग हो रही थी। पूरे मामले की जांच के लिए शासन की ओर से प्रमुख सचिव चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय उच्च स्तरीय जांच समिति का गठन किया गया था। जांच के दौरान समिति के मेंबर्स ने सभी पहलुओं की जांच के बाद अपनी रिपोर्ट शासन को दी। इसके बाद शासन के निर्देश पर एजेंसी मैनेजमेंट कंट्रोल सिस्टम प्राइवेट लिमिटेड परीक्षा परिणाम घोषित करने में बरती गई असावधानी, अनियमितताओं एवं लापरवाही के कारण ब्लैक लिस्ट किया गया है।

शासन के निर्देश पर संबंधित एजेंसी को ब्लैक लिस्ट किया गया है। मामला फिलहाल हाईकोर्ट में लंबित है। हाईकोर्ट के निर्देश के बाद आगे की कार्रवाई होगी।

टीईटी 2018 के 44135 आवेदन निरस्त

यूपी शिक्षक पात्रता परीक्षा 2018 में ऑनलाइन आवेदन करने वाले अभ्यर्थियों में से 44135 अभ्यर्थियों का आवेदन निरस्त कर दिया गया। अभ्यर्थियों का आवेदन शैक्षिक अर्हता एवं एक से अधिक आवेदन के आधार पर किया गया है। इसमें प्राथमिक स्तर पर 34455 एवं उच्च प्राथमिक स्तर पर 9680 आवेदन निरस्त किए गए हैं।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.