एग्जाम तो ठीक, पर जाम में उलझे अभ्यर्थी

2019-12-09T05:45:56Z

पहली पाली

- 40623 अभ्यर्थियों ने कराए रजिस्ट्रेशन

- 36579 अभ्यर्थी रहे ही मौजूद

- 4044 अभ्यर्थियों ने किया किनारा

- 9.30 से 11.30 बजे हुई परीक्षा

- 62 केंद्रों पर कराई गई परीक्षा

दूसरी पाली

- 26723 अभ्यर्थियों ने कराए रजिस्ट्रेशन

- 23569 अभ्यर्थी रहे ही मौजूद

- 3154 अभ्यर्थियों ने किया किनारा

- 1.30 से 4.30 बजे हुई परीक्षा

- 62 केंद्रों पर कराई गई परीक्षा

---------

जाम के कारण परेशान रहे अभ्यर्थी, केंद्रों पर दौड़ते भागते पहुंचे अभ्यर्थी

Meerut । जिले के 62 केंद्रों पर रविवार को हुई केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (सीटेट) में अभ्यर्थी शामिल हुए। मगर अभ्यर्थियों को यह परीक्षा काफी भारी पड़ी। एक ओर परीक्षा का तनाव और दूसरी ओर चारों तरफ जाम और बसों के न मिलने से अभ्यर्थियों को काफी परेशानी झेलनी पड़ी। आलम यह रहा कि अभ्यर्थी देर रात अपने घरों तक पहुंचे।

4 हजार से अधिक ने किया किनारा

बता दें के सीटेट परीक्षा दो पालियों में आयोजित की गई थी। पहली पाली सुबह 9.30 से 11.30 बजे तक संचालित की गई। पहली पाली के लिए 40623 रजिस्ट्रेशन कराए गए थे, जिसमें 36579 अभ्यर्थी ही मौजूद रहे। वहीं 4044 अभ्यर्थियों ने परीक्षा से किनारा किया। सीटेट में पहला पेपर सरल रहा। वहीं बॉयो का पेपर औसत व होमसाइंस का सरल रहा। दूसरी पाली की परीक्षा में तर्कशक्ति पर आधारित सवालों की अधिकता रही। छात्रा प्रवेश कुमारी ने बताया कि पेपर में कठिन जैसा कुछ नहीं था,लेकिन मनोविज्ञान पर आधारित सवाल अधिक पूछे गए थे। मीनाक्षी ने बताया कि हिंदी कुछ कठिन थी बाकी पेपर को हल करने में समय कम लगा।

केंद्रों पर रही सख्ती

केंद्रों से परीक्षा देकर निकले अभ्यर्थियों ने बताया कि केंद्रों पर सख्त चेकिंग रही। महिला अभ्यर्थियों के गले से चेन,माला और हाथों से कंगन आदि तक निकलवा दिए गए। पानी की बोतल तक अंदर नहीं ले जाने दी गई।

नहीं मिली बस,परेशान रहे अभ्यर्थी

सीटेट देने वाले अभ्यर्थियों को तमाम समस्याओं का सामना करना पड़ा। सहालग के चलते शाम को घर जाने के लिए अभ्यर्थियों को जहां बसों का लंबे समय तक इंतजार करना पड़ा वहीं दूसरी ओर से जाम का भी सामना करना पड़ा।

तर्क शक्ति पर आधारित सवाल थोड़े से मुश्किल आए थे, उनके कारण थोड़ा देर लगी, वरना पेपर बहुत ही अच्छा आया था।

गौरव राणा

बायो का पेपर औसत आया था, होमसाइंस तो बहुत ही आसान आई थी, मनोविज्ञान पर आधारित सवाल अधिक आए थे।

कीर्ति

मुझे तो पेपर बहुत आसान लगा, कुछ भी मुश्किल नही आया था, जिसने भी बनाया पेपर बहुत ही अच्छा बनाया है।

दिव्यम

Posted By: Inextlive

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.